ममता सरकार का बड़ा फैसला, अब राज्यपाल की जगह मुख्यमंत्री होंगी सभी सरकारी विश्वविद्यालयों की कुलपति

0
26

पश्चिम बंगाल की ममता सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। अब गवर्नर की जगह राज्य की यूनिवर्सिटीज की चांसलर मुख्यमंत्री होंगी। खबरों के मुताबिक इसे लेकर बिल जल्द ही विधानसभा में पेश किया जाएगा। वैसे भी राज्य की ममता सरकार और जगदीश धनगर के बीच फैसलों को लेकर तनातनी चलती रहती है। इस साल जनवरी में सीएम ममता ने गवर्नर जगदीप धनखड़ को ट्विटर पर ब्लॉक कर दिया था। ममता ने कहा था कि वो बंगाल के गवर्नर के ट्वीट से परेशान हो गई थीं, जिसके बाद उन्होंने जगदीप धनखड़ को ब्लॉक कर दिया। इस दौरान ममता बनर्जी ने गर्वनर धनखड़ पर गंभीर आरोप भी लगाए थे।

राज्य के शिक्षा मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री को राज्य द्वारा संचालित विश्वविद्यालयों का कुलाधिपति बनाने वाले विधेयक को बंगाल मंत्रिमंडल ने मंजूरी दी है। शिक्षा मंत्री ब्रत्य बसु ने कहा कि इस मामले में विधानसभा में संसोधन के लिए बिल लाया जाएगा।अब मुख्यमंत्री ममता बनर्जी खुद विश्वविद्यालय में चांसलर का पद संभालेंगी। अब तक चांसलर की जिम्मेदारी राज्यपाल के पास होती थी। लेकिन ममता सरकार के बड़ा बदलाव करते हुए यह जिम्मेदारी सीएम के पास आ गई है। जल्द ही विधानसभा में बिल के जरिए इसे संशोधित कर दिया जाएगा।

पश्चिम बंगाल में सरकार बनाम राज्यपाल का विवाद काफी दिनों से चल रहा है। राज्य सरकार राज्यपाल के हाथ से शक्तियां लेकर सीएम को देने की तैयारी काफी पहले से कर रही है। दिसंबर 2021 में शिक्षा मंत्री ब्रत्य बसु ने एक बयान देते हुए कहा था कि राज्य की सभी यूनिवर्सिटी के कुलपति के रूप में सीएम बनर्जी को नामित करने पर विचार किया जा रहा है। उन्होंने कहा था कि इसके लिए कानूनी राय ली जा रही है। जिसके बाद राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने सभी प्राइवेट यूनिवर्सिटी के कुलपतियों की बैठक भी बुलाई थी। लेकिन कोई भी कुलपति बैठक में नहीं पहुंचा था, जिस पर राज्यपाल ने काफी नाराजगी जताई थी। उन्होंने कहा था कि राज्य में शिक्षा व्यवस्था के हालात चिंताजनक हैं। अब ममता सरकार ने बड़ा फैसला ले लिया है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here