NCB के पंचनामे में खुलासा- आर्यन ड्रग्स ले जाने की बात कुबूली, अरबाज ने जूते से निकाला था पैकेट

0
6

NCB के अनुसार आर्यन खान ने NCB अफसरों के सामने स्वीकार किया है कि वह चरस का सेवन करता है और उसका दोस्त अरबाज मर्चेंट अपने जूतों में 6 ग्राम चरस छिपाकर लग्जरी क्रूज पर जा रहा था, ताकि वे समंदर में क्रूज पर धमाकेदार पार्टी कर सकें.

मुंबई के समंदर में 2 अक्टूबर की जिस रात को लग्जरी क्रूज पर एनसीबी ने छापा मारा था, उससे जुड़ीं अहम जानकारी सामने आई है. जब क्रूज में एनसीबी के अधिकारियों ने अरबाज खान से पूछा कि क्या उसके पास कोई ड्रग्स है, तो उसने बताया था कि उसने अपने जूतों में ड्रग्स छिपाकर रखा हुआ है. NCB से सवाल किए जाने पर अरबाज मर्चेंट ने खुद अपने जूतों से एक ZIP LOCK पाउच निकाला जिसमें चरस था.

अरबाज ने स्वीकार किया कि वह आर्यन खान के साथ चरस का सेवन करता है, और वे क्रूज पर धमाल मचाने के लिए जा रहे थे.

जब NCB अधिकारियों ने आर्यन खान से पूछा तो उसने भी स्वीकार किया कि वो चरस का सेवन करता है और ये चरस क्रूज की यात्रा पर स्मोकिंग के लिए ले जा रहे थे. लग्जरी क्रूज कॉरडेलिया पर छापे की ये डिटेल NCB के पंचनामा के आधार पर है.

क्या होता है पंचनामा?
बता दें कि पंचनामा वह प्रक्रिया है जिसके जरिये जांच एजेंसी क्राइम सीन से प्रारंभिक रिकॉर्ड और साक्ष्यों को संग्रह करती है. इस दौरान पुलिस या जांच एजेंसी गवाहों के बयान को रिकॉर्ड करती है. पंचनामा तैयार करने के दौरान पुलिस कुछ नागरिकों को लेकर जाती है, ताकि वे जांच एजेंसी की कार्यवाही के चश्मदीद बन सके.

NCB के पंचनामे में दो पंचों का जिक्र है. किरण गोसावी और प्रभाकर रोघोजी सेन. इस पंचनामे के पृष्ठ संख्या 6 में आर्यन खान और अरबाज मर्चेंट का जिक्र है.

पंचनामा के अनुसार पहले NCB के आफिसर आशीष रंजन प्रसाद के पूछे जाने पर आर्यन खान और अरबाज मर्चेंट ने अपना नाम बताया. फिर NCB अधिकारी ने पूछताछ की वजह भी उन्हें बताई.

इसके बाद आशीष रंजन प्रसाद ने दोनों को NDPS एक्ट 1985 की धारा 50 के प्रावधान दोनों युवकों को समझाए. NCB ने आर्यन और अरबाज को ये भी विकल्प दिया कि अगर वो चाहते हैं कि उनकी तलाशी गजेटेड अधिकारी या फिर मजिस्ट्रेट के सामने हो तो ऐसा भी हो सकता है, लेकिन दोनों ने इस अनुरोध को अस्वीकार कर दिया.

इसके बाद तलाशी की प्रक्रिया शुरू हुई. पंचनामे के अनुसार जांच अधिकारी ने उन दोनों से पूछा कि क्या उनके पास किसी तरह का नारकोटिक्स ड्रग्स है? इस सवाल के जवाब में दोनों ने अपने पास  प्रतिबंधित ड्रग्स की मौजूदगी को स्वीकार किया.

NCB का पंचनामा कहता है कि अरबाज मर्चेंट ने NCB अधिकारियों को कहा है कि उसके जूतों में चरस है. इसके बाद अरबाज ने अपने जूतों में रखे एक जिप लॉक पाउच को स्वेच्छा से निकाला.

इस जिप लॉक के अंदर काले रंग का चिपचिपा पदार्थ था. डीडी किट से इसकी जांच की गई तो पुष्टि हुई कि ये पदार्थ चरस है.

पंचनामे के मुताबिक अरबाज ने स्वीकार किया कि वह आर्यन शाहरुख खान के साथ चरस का सेवन करता है और वे इस क्रूज सफर पर धमाल मचाने के लिए जा रहे थे.

पंचनामा में लिखा गया है कि इसके बाद जब आर्यन खान से पूछताछ की गई तो उसने भी स्वीकार किया कि वह भी चरस का सेवन करता है और ये चरस क्रूज पर सफर के दौरान स्मोकिंग के लिए थी.  इस चरस का वजन 6 ग्राम था.

इसके बाद जिपलॉक पाउच को सील कर दिया गया और इसे हर रंग के कागज के लिफाफे में रख कर सील कर दिया गया है. इसपर NCB सील नंबर 3 लिखा गया.

खुफिया सूचना से जानकारी
बता दें कि NCB को जानकारी मिली थी कि कॉरडेलिया क्रूज पर रेव पार्टी होने जा रही है, जहां ड्रग्स इस्तेमाल किया जाना है. इसलिए जांच अधिकारी आशीष प्रसाद ने उपर लिखे गए दोनों पंचों से कहा था कि वे सर्च के दौरान मौजूद रहे.

NCB टीम टर्मिनल बिल्डिंग में जब प्रवेश कर रही थी उस वक्त CISF की एक महिला ऑफिसर भी उनके साथ थी.

पंचनामे के अनुसार विक्रांत कोच्चर और इसमीत सिंह प्रस्थान द्वार के पास 4.30 बजे शाम पहुंचे थे. उन्होंने भी स्वीकार किया था कि वे प्रतिबंधित सामग्री ले जा रहे हैं. इसके बाद आर्यन और अरबाज की एंट्री हुई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here