एक और ‘तूफान’ मचाएगा तबाही! इस दिन बंगाल की खाड़ी से टकराएगा चक्रवात ‘यास’

0
27

भारत के पश्चिमी तटीय राज्यों गुजरात और महाराष्ट्र के कई इलाकों में चक्रवाती तूफान ‘तौकते’ ने तबाही मचाई है। इस चक्रवात से गुजरात में 13 लोगों की मौत हुई है। वहीं महाराष्ट्र में 6 से ज्यादा लोगों के मारे जाने की खबर है। वहीं भारतीय मौसम विभाग ने अब अरब सागर और बंगाल की खाड़ी में एक और चक्रवाती तूफान की चेतावनी जारी की है। मौसम विभाग के अनुसार 23-24 मई के दौरान तूफान ‘यास’ बंगाल की खाड़ी से टकराएगा। इस बार तूफान का नाम ओमान ने दिया है।

सांकेतिक तस्वीर

भारत मौसम विभाग में चक्रवात विभाग की प्रभारी सुनीता देवी ने बताया कि अगले हफ्ते पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने के आसार हैं। मौसम विभाग स्थिति पर नजर रखे हुए है। उन्होंने निम्न दबाव प्रणाली तेज होने के संकेत भी दिए। देवी ने कहा कि समुद्री सतह का तापमान एसएसटी बंगाल की खाड़ी के ऊपर 31 डिग्री है। यह औसत से लगभग 1-2 डिग्री सेल्सियस ऊपर है। सभी समुद्री और वायुमंडलीय परिस्थितियां चक्रवाती तूफान के अनुकूल हैं।

वहीं दूसरी ओर गुजरात में चक्रवात ‘तौकते’ के कारण कम से कम 13 लोगों की मौत हो गयी जबकि तूफान की वजह से कई इलाकों में भारी बारिश तथा नुकसान की खबर है, वहीं भारतीय नौसेना व तटरक्षक बलों ने मुंबई के निकट अरब सागर में फंसे दो बजरों में मौजूद 317 लोगों को सुरक्षित बचा लिया। अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी। कमजोर पड़ने से पहले सोमवार देर रात गुजरात में दस्तक देने वाले चक्रवाती तूफान के कारण राज्य को भारी बारिश का सामना करना पड़ा तथा इस दौरान चली तेज रफ्तार आंधी के कारण कई खंभे व पेड़ उखड़ गए तथा घरों व सड़कों को भी नुकसान पहुंचा।

Cyclone Tauktae: टाउते तूफान में डूबा बार्ज P305, 180 लोगों का रेस्क्यू, 81  लापता

मौसम विभाग ने कहा कि टाउते गुजरात के तट से ‘बेहद गंभीर चक्रवाती तूफान’ के तौर पर आधी रात के करीब गुजरा और धीरे-धीरे कमजोर होकर ‘गंभीर चक्रवाती तूफान’ तथा बाद में और कमजोर होकर अब ‘चक्रवाती तूफान’ में बदल गया है। प्रदेश के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने कहा कि 16,000 से ज्यादा घरों को नुकसान पहुंचा, 40 हजार से ज्यादा पेड़ और 70 हजार से ज्यादा बिजली के खंभे उखड़ गए जबकि 5951 गांवों में बिजली चली गई। मीडिया को जानकारी देते हुए रुपाणी ने कहा कि चक्रवात के कारण मरने वालों का आधिकारिक आंकड़ा 13 का है।

उधर तटरक्षक बल के दो चेतक हेलीकॉप्टरों ने बेहद खराब मौसम के बीच (पड़ोसी महाराष्ट्र) के सतपति तट के निकट समुद्र में फंसे ‘गल कंस्ट्रक्टर’ जहाज के चालक दल के आठ सदस्यों को भी बचा लिया। एक अधिकारी ने बताया कि विपरीत मौसम से जूझते हुए भारतीय नौसेना और तटरक्षक बलों ने टाउते के दस्तक देने से पहले मुंबई के निकट अरब सागर में फंसे दो बजरों में मौजूद 317 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया है, लेकिन 390 और लोग अब भी अब भी फंसे हुए हैं या लापता बताए जा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here