ऑस्ट्रेलिया, US, UK, फ्रांस बोले- कोरोना से जंग में हम भारत के साथ

0
74

कोरोना वायरस की दूसरी लहर की वजह से भारत की हालत बेहद खराब है। स्वास्थ्य तंत्र की बदहाली की खबरें लगातार आ रही हैं। हॉस्पिटल में बेड, दवाओं, इंजेक्शन, ऑक्सीजन की कमी से बड़ी तादाद में लोगों की मौत हो रही हैं। ऐसे में अब दुनिया के दूसरे देश भारत को मदद देने और एकजुटता जताने के लिए हाथ आगे बढ़ा रहे हैं। अब तक अमेरिका, यूनाइटेड किंगडम, पाकिस्तान, फ्रांस,ऑस्ट्रेलिया और जर्मनी देश भारत के संकट में सहयोग देने की बात कह चुके हैं।

भारत की मदद करने के लिए तैयार: अमेरिका

अमेरिका के हेल्थ सेक्रेट्री मेट हेनकॉक ने 23 अप्रैल को ट्वीट किया कि- ‘भारत में दिल दुखाने वाले नजारे दिख रहे हैं। मुझे भारतीय दोस्तों के साथ संवेदना है। हम वायरस से लड़ाई में भारत की मदद करने के लिए तैयार हैं।’ व्हाइट हाउस की एक अलग प्रेस कॉन्फ्रेंस में राष्ट्रपति जो बाइडन के मुख्य चिकित्सा सलाहकार डॉ। एंथनी फाउची ने कहा कि भारत फिलहाल बहुत खौफनाक स्थिति से गुजर रहा है। उन्होंने कहा, “वहां ऐसी स्थिति है जहां वायरस के कई प्रकार पनप गए हैं… लेकिन हम साफ तौर पर मानकर चल रहे हैं कि उन्हें टीकों की जरूरत है।”

फाउची ने कहा कि अमेरिकी रोग नियंत्रण और बचाव केंद्र (सीडीसी) भारत को तकनीकी सहायता और सहयोग देने के लिए भारत में अपनी समकक्ष एजेंसी के साथ काम कर रहा है। व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव जेन साकी ने शुक्रवार को कहा कि अमेरिका कोरोना वायरस महामारी से जूझ रहे भारत के लोगों के प्रति गहरी सहानुभूति रखता है।

ब्रिटेन करेगा वेंटिलेटर्स के लिए मदद

बोरिस जॉनसन, प्रधानमंत्री, ब्रिटेनहम इस पर विचार कर रहे हैं कि हम कोरोना संकट में फंसे भारत के लोगों की क्या मदद कर सकते हैं। ब्रिटिश पीएम ने ये भी कहा कि वो वेंटिलेटर्स और बाकी दूसरे उपकरणों के स्तर पर भी भारत की मदद करेंगे।

‘संकट के दौर में फ्रांस आपके साथ’: मेक्रों

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैन्युल मेक्रों ने कहा कि फ्रांस सहयोग करने के लिए तैयार है। इमैन्युल मैक्रों, राष्ट्रपति, फ्रांसहम कोरोना संकट से जूझ रहे भारत के लोगों के साथ खड़े हैं। संकट के दौर में फ्रांस आपके साथ हैं। हम आपके सहयोग के लिए खड़े हैं।

EU करेगा भारत की मदद

यूरोपियन यूनियन ने भी भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर से बात करके अपना समर्थन भारत को जताया है। यूरोपियन कमीशन के वाइस प्रेसिडेंट मार्गरेट वेस्टागर के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के बाद भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि- ‘भारत में कोरोना संकट के बीच यूरोपियन यूनियन का समर्थन सराहनीय है। उम्मीद करते हैं कि इस कठिन वक्त में यूरोपियन यूनियन हमारी क्षमता में इजाफा करने में मदद करेगा।’

पाकिस्तान ने जताई एकजुटता

इमरान खान, पीएम, पाकिस्तानजब भारत कोरोना की डरावनी लहर का सामना कर रहा है, ऐसे वक्त में हम भारत के लोगों के साथ खड़े हैं। हम अपने पड़ोसी के लिए प्रार्थना करते हैं जो महामारी से जूझ रहा है। मानवता को साथ लाकर हम इस ग्लोबल चुनौती का सामना कर सकते हैं।

ग्लोबल संकट से उबरने के लिए साथ में करेंगे काम: ऑस्ट्रेलिया

ऑस्ट्रेलिया के विदेश मंत्री मेरीज पायने ने ट्वीट किया है कि -‘कोरोना संकट की नई लहर में ऑस्ट्रेलिया अपने दोस्त भारत के साथ खड़ा है। भारत ने जिस उदार तरीके से हमारे क्षेत्र को वैक्सीन दी, वो सराहनीय है। हम इस ग्लोबल संकट से उबरने के लिए साथ में मिलकर काम करते रहेंगे।’

जर्मनी ने जताई भारत के साथ सहानुभूति

भारत में जर्मनी के दूतावास ने कहा है कि – ‘भारत में चल रहे कोरोना संकट पर जर्मनी की सरकार नजर बनाए हुए है। जर्मनी को भारत के साथ सहानुभूति है। भारत हमारा रणनीति साझेदार है। हम दोनों देशों का मानना है कि दुनिया इस संकट से एक दूसरी की मदद करके ही छुटकारा पा सकता है।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here