राज्यसभा ने बजट सत्र में पारित किये 19 विधेयक

0
56
राज्यसभा की कार्यवाही गुरूवार को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी गयी जिसके साथ ही संसद के बजट सत्र का दूसरा चरण निर्धारित समय यानी आठ अप्रैल से पहले संपन्न हो गया। सभापति एम वेंकैया नायडू ने आज कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित करने से पहले अपने समापन वक्तव्य में कहा कि संसद का यह दूसरा सत्र है जो कोरोना महामारी के साये में हुआ है और यह संतोष की बात है कि इस दौरान कोविड प्रोटोकोल तथा सभी जरूरी मानक प्रक्रियाओं का पूरी तरह पालन किया गया।
उन्होंने कहा कि बजट सत्र के दोनों चरणों के लिए कुल 33 बैठकें निर्धारित की गयी थी लेकिन दूसरे चरण के समय से पहले समाप्त होने के चलते कुल 23 बैठकें ही हो सकी। बजट सत्र का पहला चरण 29 जनवरी से 12 फरवरी तथा दूसरा चरण आठ मार्च से 25 मार्च तक चला। इस दौरान सदन में कुल 19 विधेयक पारित किये गये। इन 23 बैठकों  के दौरान सदन की कार्यवाही 116 घंटे 31 मिनट के निर्धारित समय की तुलना में 104 घंटे 23 मिनट चली। इस तरह दोनों चरणों के दौरान सदन में उत्पादकता 90 प्रतिशत रही।
व्यवधान के कारण सदन का 21 घंटे 26 मिनट का समय बर्बाद रहा हालाकि सदन ने निर्धारित समय से 14 घंटे और 28 मिनट अतिरिक्त समय बैठकर इसकी कुछ भरपायी की। उन्होंने कहा कि पिछले चार सत्र के दौरान सदन में औसतन 94 प्रतिशत कामकाज हुआ। उन्होंने कहा कि बजट सत्र के दौरान राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव तथा आम बजट पर विस्तार से चर्चा हुई और सदस्यों ने इसमें खुलकर अपने विचार रखे। इसके लिए शून्यकाल और प्रश्नकाल का समय भी सदस्यों को दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here