म्यांमार में आग के हवाले की गईं चीनी फैक्ट्रियां, गुस्साए सुरक्षाबलों ने प्रदर्शनकारियों को गोलियों से भूना- 70 की मौत

0
70

म्यांमार के औद्योगिक हलिंगथैया क्षेत्र में चीनी कंपनियों को आग के हवाले कर दिया गया है। इससे गुस्साए सुरक्षाबलों ने यहां करीब 70 प्रदर्शनकारियों को मौत के घाट उतार दिया है। चीन पर आरोप लग रहे हैं कि वह म्यांमार में तख्तापलट को समर्थन दे रहा है। ऐसे में यहां के लोगों में चीन के प्रति रोष है। एक अधिकार समूह ने बताया कि हलिंगथैया में 22 प्रदर्शनकारियों समेत कुल 70 लोगों की रविवार को प्रदर्शनों के दौरान हत्या की गई। बता दें कि म्यांमार में हालात काबू से बाहर होते जा रहे हैं। शांतिपूर्ण प्रदर्शनकारियों के खिलाफ सेना की आक्रामक कार्रवाई जारी है। बता दें कि बीते 6 हफ्ते से जारी प्रदर्शन का ये अबतक का सबसे खतरनाक एक्शन रहा।

यंगून की गोलीबारी में 51 लोगों की जान गई, तो उससे अलग-अलग शहरों में भी 12 लोग रविवार को ही अपनी जान गंवा बैठे। म्यांमार के एक संगठन के मुताबिक, अभी तक के प्रदर्शन में मारे गए लोगों की संख्या 125 का आंकड़ा पार कर चुकी है। जानकारों की मानें तो अभी म्यांमार में प्रदर्शनकारियों की मौत का आंकड़ा बढ़ सकता है। क्योंकि अभी भी कई जगह ऐसी हैं, जहां लाशें पड़ी हैं लेकिन उनकी सुध नहीं ली गई है।

म्यांमार में जारी इस खूनी खेल को लेकर दुनिया लगातार चिंता में हैं। रविवार की घटना के बाद ब्रिटिश सरकार ने चिंता व्यक्त की है, तो वहीं संयुक्त राष्ट्र की ओर से भी अपील की गई है कि म्यामांर की सेना को तुरंत सत्ता वापस चुनी हुई सरकार को सौंप देनी चाहिए।

आपको बता दें कि म्यांमार में एक फरवरी को सेना ने तख्तापलट कर दिया था और म्यांमार की चुनी हुई सरकार को सत्ता से बेदखल कर दिया। आंग सान सू की समेत कई बड़े नेताओं को जेल में डाल दिया गया और उनकी आवाज़ दबा दी गई। इसी के बाद से ही म्यांमार की सड़कों पर प्रदर्शन हो रहा है और लोग आंग सान सू की को रिहा करने की मांग कर रहे हैं।

हालांकि, बीते कुछ दिनों में सेना ने आक्रामक रुख अपनाया है और प्रदर्शनकारियों पर खुलेआम गोलियां चलाई जा रही हैं। साथ ही सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट करने पर भी एक्शन हो रहा है। जानकारी के मुताबिक, अभी तक म्यांमार के प्रदर्शन में कुल 2156 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here