UN पहुंचा पाकिस्तान में हिंदू मंदिर गिराने का मामला, भारत ने कहा- मूक दर्शक बनी रही इमरान सरकार

0
1053

संयुक्त राष्ट्र के धार्मिक स्थलों की सुरक्षा के लिए शांति और सहिष्णुता की संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए अपनाए गए प्रस्ताव पर विचार के दौरान भारत ने पाकिस्तान की नीयत पर सवाल उठाते हुए उसपर करारा हमला बोला। गुरुवार को भारत ने प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में पिछले साल दिसंबर में सैकड़ों लोगों की भीड़ द्वारा तोड़े गए एक हिंदू मंदिर की बर्बरता पर पाकिस्तान को फटकार लगाई।

India raised issue of demolition of Hindu temple in Pakistan at UN

भारत ने कहा कि दुनिया में आतंकवाद, हिंसात्‍मक अतिवाद, कट्टरपंथ और असहिष्‍णुता बढ़ रही है। इससे धार्मिक और सांस्‍कृतिक विरासत स्‍थलों को आतंकी गतिविधियों और विनाश का खतरा उत्‍पन्‍न हो गया है। भारत ने कहा कि इसका ताजा उदाहरण हाल ही में पाकिस्‍तान में देखने को मिला जहां पर एक ऐतिहासिक हिंदू मंदिर को तोड़ दिया गया और इमरान खान सरकार मूकदर्शक बनी रही।

संयुक्त राष्ट्र में भारत के राजदूत टीएस तिरुमूर्ति ने कहा कि बहुसांस्कृतिक देश होने के नाते भारत सभी धार्मिक और सांस्कृतिक अधिकारों की रक्षा करता है और धार्मिक स्थलों की सुरक्षा भी करता है। उन्होंने कहा कि जब पाकिस्तान में हिंदू मंदिर पर हमला हुआ तो वहां की सरकार बस मूक दर्शक बनी रही। वहां, सबपर एक जैसी कानूनी कार्रवाई नहीं होती और जब तक यह स्थिति बनी रहेगी तब तक दुनिया में शांति स्थापित करने की वास्तविक संस्कृति नहीं दिखेगी।

हालांकि, अपने जवाब देने के अधिकार के तहत पाकिस्तानी प्रतिनिधि ने भारत के आरोपों को खारिज कर दिया।

 

बता दें कि पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वां के करक जिले में एक हिन्दू मंदिर में बीते महीने आग लगाने के साथ तोड़फोड़ की गई थी। इसे लेकर इमरान खान सरकार की काफी आलोचना हुई थी क्योंकि वह अकसर भारत में अल्पसंख्यकों को लेकर मोदी सरकार पर हमलावर रहते हैं। मंदिर में आग लगाने और तोड़फोड़ का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। इसके बाद वहां करीब 110 लोगों की गिरफ्तारी का दावा किया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here