बाइडेन के राष्ट्रपति बनते ही अमेरिका की WHO में वापसी

0
1155

 जो बाइडेन कुछ ही घंटे में अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति तौर पर शपथ लेने वाले हैं. दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश में सत्ता हस्तांतरण पर विश्व भर की नजरें टिकी हुई है. डेमोक्रेटिक पार्टी के नेता 78 वर्षीय जोसेफ बाइडेन (Joseph Robinette Biden) राष्ट्रपति पद की और भारतीय मूल की कमला हैरिस उपराष्ट्रपति पद की शपथ लेंगे. इसी के साथ आज से अमेरिका में ट्रंप युग का अवसान होगा और बाइडेन युग का उदय होगा.

कैपिटल हिल में 6 जनवरी को ट्रंप समर्थकों द्वारा जो कुछ किया गया, उसके बाद अमेरिकी सुरक्षा एजेंसियों बेहद चौकन्ना हो गई हैं. सुरक्षा एजेंसियों को न सिर्फ बाहरी लोगों से गड़बड़ी का अंदेशा है बल्कि उन्हें सुरक्षा में तैनात सैनिकों से भी हमले की आशंका है. हालांकि जो बाइडेन के खिलाफ किसी तरह के खतरे का इनपुट नहीं है.

अमेरिका की राजधानी वाशिंगटन इस वक्त लॉकडाइन में हैं. बावजूद इसके सुरक्षा के लिए 25000 नेशनल गार्ड्स को तैनात किया गया है. वाशिंगटन की गलियों में टैंक और कॉन्क्रीट के बैरियर लगा दिए गए हैं. यूएस सीक्रेट सर्विस ने कई चेक प्वाइंट बनाएं है. कैपिटल हिल को 8 फीट ऊंची फेंसिंग से घेर दिया गया है.

वाशिंगटन स्थित कैपिटल हिल में जैसे ही घड़ी की सूइयां स्थानीय समय के मुताबिक दोपहर के 12 बजाएंगी, मुख्य न्यायाधीश जॉन रॉबर्ट जो बाइडेन को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाएंगे. शपथ ग्रहण कार्यक्रम 11 बजे ही शुरू हो जाएगा. जब बाइडेन शपथ ले रहे होंगे भारत में उस समय वक्त रात के 10.30 बज रहे होंगे.

78 साल के जो बाइडेन शपथ लेने के लिए अपने परिवार की 127 साल पुरानी बाइबल को लाए हैं. शपथ ग्रहण के दौरान जो बाइडेन की पत्नी जिल बाइडेन बाइबल को पकड़ी रहेंगी.

कमला हैरिस दो बाइबल के साथ शपथ लेंगी, इसमें से एक उनके नजदीकी मित्र का है, जबकि दूसरा देश की पहली अफ्रीकन अमेरिकन सुप्रीम कोर्ट की जज का है शपथ ग्रहण के कुछ घंटे पहले ट्रंप व्हाइट हाउस को खाली कर देंगे. एजेंसी रिपोर्ट के मुताबिक ट्रंप इसके बाद फ्लोरिडा में मौजूद अपने मार-ए-लागो क्लब जाएंगे.

शपथ ग्रहण के बाद अमेरिका की सिंगर डांसर लेडी गागा राष्ट्रगान गाएंगी.  इसके बाद अमेरिका की पहली युवा कवियत्री अमांडा गौरमेन कविता गाएंगी. इसके बाद दुनिया की जानी-मानी अभिनेत्री जेनिफर लोपेज अपना परफॉर्मेंस देंगी.

जो बाइडेन शपथ ग्रहण के बाद अमेरिका के राष्ट्रपति के तौर पर देश को संबोधित करेंगे और अगले चार सालों के कार्यकाल के लिए अपना विजन पेश करेंगे. इतिहास के पन्नों में दर्ज होने जा रहे इस ऐतिहासिक भाषण का भी भारत से संबंध है. ये भाषण Unity और Healing के थीम पर आधारति होगा. इस भाषण को लिखने की जिम्मेदारी बाइडेन ने भारतीय मूल के भाषण लेखकर विनय रेड्डी को दी है.

परेड की सलामी लेंगे कमांडर इन चीफ जो बाइडेन
राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति पद की शपथ लेने के बाद बाइडेन और कमला पारंपरिक परेड की सलामी लेंगे. इसका सांकेतिक महत्व ये है कि अब नए कमांडर इन चीफ को सत्ता का हस्तांतरण हो गया है.  यहां कुछ और औपचारिकताओं को पूरा करने के बाद दोनों व्हाइट हाउस जाएंगे. यहां पर उन्हें प्रेसिडेंशियल एस्कॉर्ट दिया जाएगा.

अमेरिका में परंपरा है कि जब नया राष्ट्रपति ओवल ऑफिस में आते हैं और अपनी कुर्सी पर बैठते हैं तो वहां उनके पूर्ववर्ती एक पत्र छोड़ जाते हैं, लेकिन इस बार की जैसी स्थिति है और सत्ता हस्तांतरण से पहले ट्रंप का जैसा रवैया रहा है, उसे देखते हुए ये अफवाहें चल रही है कि हो सकता है कि ट्रंप कोई चिट्ठी छोड़ ही न गए हों.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here