रहाणे से सीखा कि कठिन समय में कैसे बल्लेबाजी की जाए : गिल

0
387
भारतीय क्रिकेट टीम के युवा सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरे बॉंिक्सग डे टेस्ट मैच के दूसरे दिन का खेल खत्म होने के बाद रविवार को कप्तान अजिंक्या रहाणे की नाबाद शतकीय पारी की प्रशंसा करते हुए कहा कि उन्हें बल्लेबाजी करते हुए देख कर सीखा कि कठिन समय कैसे में कैसे बल्लेबाजी की जाए और किस तरह से रन बनाये जाएं। गिल ने पहले दिन के खेल के बाद आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘कप्तान अजिंक्या रहाणे की यह पारी पूरी तरह से धैर्य के बारे में थी।
वह धैर्य के साथ खेल रहे थे और इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि जब आप इस तरह की उच्च गुणवत्ता वाली गेंदबाजी का सामना कर रहे होते है तो कभी-कभी आप रन नहीं बना पाते हैं। उन्होंने शानदार और दर्शनीय पारी खेली।’’युवा बल्लेबाज ने कहा, ‘‘कप्तान रहाणे ने दर्शाया कि कठिन समय के दौरान किसी तरह से बल्लेबाजी की जाए और जब रन बनाने वाली कोई गेंद मिले तो उस मौके को कैसे लपका जाए।’’
गिल ने ऑस्ट्रेलिया के दूसरे बॉंिक्सग डे टेस्ट में टेस्ट पदार्पण करते हुए अपनी पहली पारी में 45 रन बनाये और वो अपना पहला अर्धशतक बनाने से चूक गए। गिल ने हालांकि टीम को अच्छी शुरुआत दिलाई और आक्रामक बल्लेबाजी की। गिल ने अपनी बल्लेबाजी  लेकर कहा, ‘‘मैं जब बल्लेबाजी करने गया तो तब पिच में गेंदबाजों की लिए पूरी मदद थी। मैं अपने आप से सिर्फ यही बोला कि इससे फर्क नहीं पड़ता कि पिच पर या आस पास क्या हो रहा है, मैं अपना खेल खेलूंगा और पूरी क्षमता के साथ खेलूंगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here