लश्कर आतंकियों ने पाकिस्तानी हैंडलर से संपर्क किया था : सेना

0
3943

सेना ने शुक्रवार को कहा कि दक्षिण कश्मीर के कुलगाम में इस सप्ताह के शुरूआत में आत्मसमर्पण करने वाले लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों ने इससे पहले सोशल मीडिया के जरिये पाकिस्तान के हैंडलर से संपर्क किया था।

सेना के एक अधिकारी ने हालांकि कहा कि इन दोनों आतंकवादियों को हथियारों का कोई प्रशिक्षण नहीं दिया गया था तथा उन्हें राजनीतिक नेताओं को निशाना बनाने का जिम्मा सौंपा गया था। उन्होंने कहा कि पाक स्थित हैंडलर ने बाद में युवकों को अनंतनाग स्थित भर्ती करने वाले खालिद और एक आतंकवादी मोहम्मद अब्बास शेख से मिलवाया था।

उन्होंने कहा कि दोनों युवकों ने अनंतनाग में खालिद से मुलाकात की जिसने उन्हें हथियार मुहैया कराये। उन्होंने कहा,‘‘दोनों कई दिनों तक दक्षिण कश्मीर के विभिन्न इलाकों में छुपे रहे। उन्हें राजनीतिक नेताओं की हत्या का काम सौंपा गया था।’’

अधिकारी ने कहा कि मंगलवार को तड़के कुलगाम के तोंगदोनु गांव में आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया सूचना के आधार पर राष्ट्रीय राइफल, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल तथा जम्मू-कश्मीर पुलिस के विशेष अभियान समूह ने संयुक्त रूप से घेराबंदी एवं तलाश अभियान शुरू किया। उन्होंने कहा कि सुरक्षा बल जब एक खास इलाके की घेराबंदी कर रहे थे तभी वहां पहले से छुपे आतंकवादियों ने उन पर गोलीबारी शुरू कर दी। सुरक्षा बलों की ओर से की गयी जवाबी कार्रवाई के बाद मुठभेड़ शुरू हो गयी।

उन्होंने बताया कि फंसे हुए दोनों आतंकवादियों की पहचान होने के बाद उनके परिवार के सदस्यों को मुठभेड़ स्थल पर लाया गया जिन्होंने दोनों आतंकवादियों को समर्पण करने की अपील की। सुरक्षा बलों ने भी आतंकवादियों को आश्वस्त किया कि यदि वे आत्मसमर्पण करते हैं तो उन्हें कोई नुकसान नहीं पहुंचाया जाएगा। इसके बाद दोनों आतंकवादियों ने 30 गोलियों के साथ एक एके राइफल, दो पिस्तौल, दो हैंड ग्रैनेड एवं अन्य सामानों के साथ आत्मसमर्पण कर दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here