कैंसर से मरने का सताता था इतना डर कि पहले बेटे को बाथटब में डुबोकर मारा और फिर खुद कर ली आत्महत्या

0
5066

लंदन में 35 साल की बैंकर यूलिया को ब्रेस्ट कैंसर था। बीमारी के चलते वह काफी तनाव में आ चुकी थी। उन्होंने पहले अपने बेटे को मारा और फिर आत्महत्या कर ली। वहीं इस महिला की मां का कहना था कि यूलिया के बचने के 97 प्रतिशत चांस थे। लंदन में कुछ समय पहले एक महिला ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। अब इस केस में यह सामने आया है कि इस महिला को कैंसर सर्जरी के चलते बहुत ज्यादा बैचेनी थी और इसी वजह से उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। महिला ने आत्महत्या से पहले अपने 7 साल के बेटे को भी बाथटब में डुबाकर मार दिया था।

Common solvent keeps killing workers, consumers – Center for Public  Integrity

 

रूस में पैदा हुई 36 साल की यूलिया को कैंसर के चलते बैचेनी इतनी ज्यादा बढ़ चुकी थी कि उसने मरने का फैसला लिया किया। इस मामले में यूलिया की मां का कहना है कि शादी से पहले वो एक बेहद खुशमिजाज और स्वस्थ महिला थी लेकिन उसकी शादी में काफी तनाव था और उसकी बीमारी ने इस तनाव को बहुत ज्यादा बढ़ा दिया था। यूलिया के तनाव का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि डॉक्टर्स ने उसे कहा था कि उसके 97 प्रतिशत बचने के चांस है लेकिन उसे हमेशा लगता था कि वो उन तीन प्रतिशत लोगों में से है जिसकी कैंसर से मौत हो जाएगी। यूलिया की मां के मुताबिक, उसे मरने से डर लगता था लेकिन उसके हालात इतने बिगड़ ने लगे कि उसने खुद अपनी जान ले ली। बता दें कि यूलिया की कुछ दिनों बाद ब्रेस्ट कैंसर की सर्जरी होने वाली थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here