कृषि कानून महंगाई बढ़ाने का लाइसेंस : केजरीवाल

0
115
 आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि केंद्र सरकार का कृषि कानून सिर्फ किसानों के ही खिलाफ नहीं है बल्कि देश की आम जनता के खिलाफ है क्योंकि इससे महंगाई बढ़ेगी और कानून के जरिए महंगाई बढ़ाने का लाइसेंस दिया गया है।  केजरीवील ने सोमवार को किसानों के समर्थन में अपने कैबिनेट मंत्रियों, सांसदों, विधायकों, पार्षदों और पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ उपवास रखा। उन्होंने कहा कि यह कानून केवल किसानों के खिलाफ नहीं है, बल्कि यह कानून इस देश की आम जनता के खिलाफ है।
इस कानून के आने से महंगाई बेइंतहा बढ़ेगी। इस कानून के जरिए महंगाई बढ़ने का लाइसेंस दिया गया है। महंगाई बढ़ने को एक तरह से कानूनी जामा पहना दिया गया है। उन्होंने एक उदाहरण देते हुए कहा कि उनकी दिल्ली में सरकार है और उन्हें पता चलता है कि प्याज महंगा हो गया है। ऐसे में हम पता करते हैं कि किस-किस ने प्याज की जमाखोरी कर रखी है। महंगाई इसलिए होती है, क्योंकि कुछ लोग सारा प्याज खरीद कर अपने स्टोर में जमा कर लेते हैं।
मार्केट में प्याज नहीं आता है और प्याज की कमी हो जाती है। इसलिए प्याज महंगा हो जाता है। दाल क्यों महंगी होती है। कुछ चंद पैसे वाले लोग सारी दाल खरीद कर अपने स्टोर में जमा कर लेते हैं। दाल महंगी हो जाती है और दाल की कमी हो जाती है। ऐसे में फिर सरकार क्या करती है? सरकार उनके गोदाम में छापे मारकर वो दाल बाहर निकालती है। मार्केट में जब दाल आती है, तो दाल सस्ती हो जाती है। वहीं, इस कानून में लिखा है कि कोई भी व्यक्ति कितनी भी जमाखोरी कर सकता है।
अभी तक जमाखोरी करना कानून में भी अपराध माना जाता था और शास्त्रों में भी पाप माना जाता था। उन्होंने कहा कि देश भर के किसानों के समर्थन में जो-जो लोग उपवास पर बैठे हैं और जो लोग किसानों के समर्थन में बैठे हैं, लेकिन किसी भी वजह से उपवास नहीं कर पाए हैं, उन सब लोगों का धन्यवाद है। देश आज संकट में है, क्योंकि किसान संकट में है। किसान और जवान किसी भी देश की नींव होते हैं। अगर किसान और जवान संकट में हो, तो देश आगे तरक्की कैसे कर सकता है और वो देश खुशहाल कैसे हो सकता है? हमारे देश का किसान आज संकट में है। जिस किसान को खेतों में होना चाहिए, वह इतनी कड़ाके की ठंड में धरने पर बैठा है।
मुझे खुशी इस बात की है कि पूरा देश आज किसान के साथ खड़ा है। देश भर में फौजी, खिलाड़ी, बॉलीवुड की बड़ी-बड़ी हस्तियां, वकील और डॉक्टर सहित अन्य किसानों के साथ खड़े हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि दुख होता है जब किसानों के ऊपर तरह-तरह के आरोप लगाकर उनको बदनाम करने की कोशिश की जा रही है। वे कह रहे हैं कि किसान आंतकवादी, देशद्रोही, टुकड़े टुकड़े गैंग के सदस्य हैं। किसान चीन और पाकिस्तान के एजेंट है। यहां जो किसान बैठे हैं, इन्हीं लोगों के भाई, बेटे चीन और पाकिस्तान की सीमा पर देश की रक्षा कर रहे हैं।
ये जितने नेता और जो-जो लोग कह रहे हैं कि किसान चीन और पाकिस्तान के एजेंट हैं, इनको कहना चाहता हूं कि एक दिन आप अपने बेटे-बेटियों को चीन और पाकिस्तान की सीमा पर भेज कर देखिए, तब पता चलेगा कि कलेजे पर क्या बीतती है।   उन्होंने कहा कि चंद पूंजीपतियों को लाभ देने के लिए कानून लाया गया है। कानून में लिखा है कि जब महंगाई दोगुनी हो जाएगी तभी छापेमारी की जा सकती है। किसी भी देश की नींव किसान और जवान होते हैं, जिस देश के किसान और जवान संकट में हों, वो देश कैसे तरक्की कर सकता है?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here