लाहौर में महाराजा रणजीत सिंह की प्रतिमा क्षतिग्रस्त

0
9

लाहौर किले के भीतर स्थित सिख नेता महाराजा रणजीत सिंह की प्रतिमा को क्षति ग्रस्त करने के आरोप में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है। महाराजा रणजीत सिंह सिख शासक थे और उनका शासन भारत के पंजाब से पाकिस्तान के पंजाब, सिंध के कुछ हिस्सों और खैबर पख्तूनख्वा के कुछ इलाकों तक फैला था। सिख इतिहासकार, लेखक और फिल्म निर्माता बॉबी सिंह बंसल द्वारा उनकी  180 वीं पुण्यतिथि पर, माई जिंदान हवेली में लाहौर किले में उनकी प्रतिमा का अनावरण किया गया। बंसल के लंदन स्थित संगठन एस फाउंडेशन ने प्रतिमा को बनाने में मदद दी थी।

बंसल ने उम्मीद जताई थी कि यह प्रतिमा पंजाब के विभिन्न समुदायों के बीच संवाद स्थापित करने में मदद करेगी और पाकिस्तान के लोगों को सिख विरासत और पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए उनकी नींव को मजबूती प्रदान करेगा। प्रतिमा का अनावरण जून 2019 में किया गया था। उद्घाटन के काफी समय बाद इस पर हमला तब किया गया, जब दो लोगों ने इसे लकड़ी से नुकसान पहुंचाया जिसके परिणामस्वरूप इसकी एक भुजा टूट गई और अन्य हिस्सों को नुकसान पहुंचा।

 

हमलावर पंजाब के पूर्व शासक के खिलाफ नारे लगा रहे थे, और जम्मू-कश्मीर में धारा 370 को रद्द करने का विरोध कर रहे थे। ताजा हमले में एक व्यक्ति ने कांसे से बनी प्रतिमा का एक हाथ तोड़ दिया। इस मामले में संदिग्ध, जीशान ने भी पुलिस को बताया कि रंजीत सिंह की प्रतिमा का निर्माण यहां नहीं किया जाना चाहिए क्योंकि उन्होंने मुसलमानों के खिलाफ अत्याचार किए  थे। डॉन की एक रिपोर्ट के अनुसार, गिरफ्तार किशोर मृतक खादिम हुसैन रिजवी से प्रभावित था, जिसने सिख शासक के खिलाफ नफरत का प्रचार किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here