ब्रिटेन कोविड-19 वैक्सीन की मंजूरी देने वाला बना दुनिया का पहला देश

0
54

पूरी दुनिया में कोरोना वैक्सीन को लेकर रिसर्च का काम जारी है। कई देशों ने ट्रायल कर भी लिए हैं। इसी बीच खुशखबरी सामने आई है कि ब्रिटेन में Pfizer-BioNTech की Coronavirus Vaccine को मंजूरी दे दी गई है और आने वाले दिनों में इसका इमरजेंसी इस्तेमाल किया जाएगा। यह दवाई उन लोगों को दी जाएगी जिन्हें इन्फेक्शन का ज्यादा खतरा है। वैक्सीन को मेडिसिन्स ऐंड हेल्थकेयर प्रॉडक्ट्स रेग्युलेटरी अथॉरिटी (MHRA) ने इसकी इजाजत दे दी है। MHRA को विशेष नियमों के तहत 1 जनवरी से पहले वैक्सीन को अप्रूवल देने का अधिकार दिया गया था।

 

दरअसल Pfizer की वैक्सीन आखिरी ट्रायल में 95% असरदार पाई गई थी। कंपनी ने बताया है कि वैक्सीन की पहली खुराकें आने वाले दिनों में पहुंचा दी जाएंगी। ब्रिटेन ने 4 करोड़ खुराकें खरीदी हैं। कंपनी के चेयरमैन अल्बर्ट बोर्ला ने कहा है, ‘आज ब्रिटेन में इमर्जेंसी इस्तेमाल के लिए इजाजत पहनना कोविड के खिलाफ लड़ाई में ऐतिहासिक मौका है।’ ब्रिटेन ने पहले से ही चार करोड़ खुराक का ऑर्डर दिया है, जिसकी मदद से दो करोड़ जनता का दो बार टीकाकरण किया जा सकता है। इस वैक्सीन की एक करोड़ खुराक जल्द ही उपलब्ध हो जाएगी। ये दुनिया की सबसे तेजी से विकसित वैक्सीन होगी जिसे बनाने में 10 महीने लगे हैं। आम तौर पर ऐसी वैक्सीन के तैयार होने में एक दशक तक का समय लग जाता है। फाइजर के अध्यक्ष और सीईओ डॉ अल्बर्ट बोरला ने कहा था कि यह विज्ञान और मानवता के लिए बड़ा दिन है। तीसरे चरण के ट्रायल के परिणामों के पहले सेट से यह स्पष्ट होने लगा है कि कोरोना वायरस से लड़ने में हमारी वैक्सीन कारगर है, हम वैक्सीन तलाशने में नया आयाम स्थापित कर रहे हैं। यह समय ऐसा है जब कोरोना वायरस वैक्सीन की जरूरत पूरे विश्व को है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here