देश के इस राज्य में अगले 12 घंटों में आने वाला है तूफान, बाकी राज्यों में सर्दी मचाएगी कहर

0
29

-बंगाल की खाड़ी में दक्षिण-पश्चिम और दक्षिण-पूर्व तथा आसपास के क्षेत्र पर बने रहे गहरे दबाव से अगले 12 घंटों में चक्रवाती तूफान के तेजी से आगे बढ़ने की आशंका जतायी गयी है और चार दिसंबर की सुबह तूफान तमिलनाडु के कन्याकुमारी और पमबन तट को पार कर जाएगा। मौसम विभाग ने मंगलवार को यहां एक बुलेटिन में बताया कि बंगाल की खाड़ी में गहरे दवाब के कारण पिछले छह घंटों के दौरान 13 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार के साथ तूफान आगे बढ़ रहा है । मौजूदा समय में तूफान श्रीलंका के त्रिंकोमाली से लगभग 460 किलोमीटर पूर्व-दक्षिणपूर्व में और तमिलनाडु के कन्याकुमारी से 860 किलोमीटर पूर्व-दक्षिण-पूर्व में स्थित है।

तमिलनाडु : चक्रवाती तूफान 'गज' ने दस्तक दी, 76,000 लोगों को राहत शिविरों  में पहुंचाया गया

मौसम विभाग के अनुसार अगले 12 घंटों के दौरान चक्रवाती तूफान के तेजी से आगे बढ़ने का अनुमान है। पश्चिमोत्तर की ओर बढ़ रहे इस तूफान की रफ्तार 75-85 किमी प्रति घंटे से बढ़कर 95 किमी प्रति घंटे होने का अनुमान है। तेज हवाओं के साथ चक्रवाती तूफान बुधवार शाम/ रात को श्रीलंका के त्रिंकोमाली तट को पार कर जाएगा। इसके बाद तूफान के पश्चिम की ओर बढ़ने की अत्यधिक संभावना है और तीन दिसम्बर को यह सुबह मन्नार की खाड़ी और आसपास के कोमोरिन क्षेत्र में तेजी से उठेगा। इसके बाद यह पश्चिम-दक्षिणपश्चिम की ओर बढ़ेगा और चार दिसंबर की सुबह कन्याकुमारी और पमबन के बीच तमिलनाडु के तट को पार करेगा।

North India whiteout: Snowfall in Kashmir and Himachal Pradesh causes  jubilation – and traffic chaos

इससे दो और तीन दिसंबर को दक्षिण तमिलनाडु के कन्याकुमारी, तिरुनेलवेली, थूूथूकुड्डी, तेनकासी, रामनाथपुरम और शिवगांगा के कुछ स्थानों पर भारी बारिश और छिटपुट स्थानों पर अत्यधिक भारी बारिश हो सकती है। तीन दिसंबर को दक्षिण केरल के तिरुवनंतपुरम, कोल्लम, पथानामथिट्टा ओर अलाप्पुझा और चार दिसंबर को दक्षिण तमिलनाडु में भारी या मूसलाधार बारिश होने की आशंका है। तीन और चार दिसबर को दक्षिण केरल भारी बारिश होने का अनुमान जताया गया है।

उत्तरी तमिलनाडु, पुड्डुचेरी, माहे , कराईकल और उत्तरी केरल में आज और बुधवार तथा चार दिसंबर को भारी वर्षा और चार दिसंबर को तटीय तमिलनाडु में अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। अगले दो दिनों में आंध्र प्रदेश के दक्षिण तटीय इलाकों में भारी बारिश होने का अनुमान जताया गया है।

उधर, पश्चिमोत्तर क्षेत्र में बेशक मौसम खुश्क बना हुआ है लेकिन रातें सर्द बनी हुई हैं । जिस तरह नवंबर में पिछले कई साल बाद ठंडा रहा उसी तरह यह महीना भी ठंडा रहने के आसार हैं। मौसम केन्द्र के अनुसार क्षेत्र में मौसम खुश्क बना रहेगा और सुबह शाम हल्की धुंध रहने के आसार हैं । नारनौल ,हिसार और फरीदकोट का पारा छह डिग्री रहा जो शिमला से कम है । मैदानी इलाकों में पारा शिमला से कम रहे । शिमला दस डिग्री रहा । जबकि चंडीगढ़ नौ डिग्री , करनाल नौ डिग्री , अंबाला आठ डिग्री , रोहतक ,भिवानी ,अमृतसर का पारा आठ डिग्री रहा ।

सिरसा ,लुधियाना ,पटियाला का पारा क्रमश: नौ डिग्री , पठानकोट आठ डिग्री ,गुरदासपुर 10 डिग्री ,आदमपुर आठ डिग्री,बठिंडा आठ डिग्री ,हलवारा आठ डिग्री रहा । दिल्ली आठ डिग्री , श्रीनगर एक डिग्री , जम्मू का पारा 10 डिग्री रहा ।
हिमाचल में ऊंचाई वाले इलाकों में शीत लहर का प्रकोप बना हुआ है तथा मनाली तीन डिग्री , सोलन चार डिग्री ,कल्पा दो डिग्री , भुंतर चार डिग्री , धर्मशाला आठ डिग्री , मंडी पांच डिग्री , सुंदरनगर चार डिग्री , कांगडा सात डिग्री , उना सात डिग्री , नाहन 12 डिग्री रहा ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here