सरकारी इंजीनियर ने 50 बच्चों के साथ खेला हवस का गंदा खेल, यौन शोषण करके पॉर्न साइट्स को बेची वीडियोज

0
10

सीबीआई ने उत्तर प्रदेश के सिंचाई विभाग में कार्यरत एक जूनियर इंजीनियर को गिरफ्तार किया है। इस जेई पर आरोप है कि इसने कथित तौर पर 10 साल से करीब 50 बच्चों का यौन उत्पीडऩ किया। बच्चों को शिकार बनाने के बाद आरोपी इन तस्वीरों और वीडियोज को पॉर्न साइट्स पर बेच देता था। मुख्य आरोपी जूनियर इंजीनियर चित्रकूट निवासी रामभवन की उम्र 40 साल से भी कम बताई जाती है। जिन बच्चों को आरोपी ने अपना शिकार बनाया उन बच्चों की उम्र 5 से 16 साल थी। सभी पीडि़त बच्चे बांदा, चित्रकूट और हमीरपुर के रहने वाले थे। आरोपी से आठ मोबाइल फोन, आठ लाख रुपये नकद, सेक्स टॉयज, लैपटॉप के साथ-साथ कई अन्य डिजिटल सबूत ( बड़ी संख्या में बच्चों का यौन उत्पीडऩ करने वाली सामग्री) भी मिले हैं।

 

आरोपी ने जांचकर्ताओं को बताया है कि इस करतूत को लेकर  मोबाइल फोन या इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स का लालच देकर बच्चों का मुंह बंद रखता था। जनवरी में नेशनल क्राइम रिकॉड्र्स ब्यूरो के डाटा के अनुसार, भारत में हर रोज 100 से अधिक बच्चों का यौन शोषण होता है। पिछले साल के मुकाबले इसमें करीब 22 फीसदी का उछाल आया है। चित्रकूट में तैनात सिंचाई विभाग का यह जूनियर इंजीनियर अपने विभाग के काम से अलग होकर कथित तौर पर ऑनलाइन वीडियो और फोटोग्राफ की बिक्री भी करता था। इतना इनपुट मिलने के बाद सीबीआइ की टीम तहकीकात में लग गई। सीबीआइ ने जांच में मामला पकड़ में आने के बाद इसको अपनी गिरफ्त में लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here