Wednesday, October 21, 2020
Home Nation News UNLOCK 5 : सिनेमा हाल 15 अक्टूबर से 50 फीसदी क्षमता के साथ...

UNLOCK 5 : सिनेमा हाल 15 अक्टूबर से 50 फीसदी क्षमता के साथ खोलने की परमिशन, स्कूलों पर राज्य लेंगे फैसला

केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने कोरोना महामारी के कारण देशभर में गत मार्च में लागू की गई पूर्णबंदी के बाद विभिन्न गतिविधियों को फिर से शुरू करने से संबंधित पांचवें चरण के दिशा निर्देश आज जारी कर दिए, जिनमें कंटेनमेंट जोन के बाहर के क्षेत्रों में 15 अक्टूबर से सिनेमा हाल, थियेटर मल्टीप्लेेक्सों को आधी क्षमता के साथ खोलने की अनुमति दी गई है। यानी कि यहां पर आधी सीटें खाली रहेंगी। इस बाबत देश का सूचना प्रसारण मंत्रालय जल्द ही विस्तृत दिशा निर्देश जारी करेगा। शिक्षण संस्थानों को 15 अक्टूबर के बाद खोलने का निर्णय राज्य और केन्द्र शासित प्रदेशों के विवेक पर छोड़ा गया है। दिशा निर्देशों में स्पष्ट रूप से कहा गया है कि देशभर के कंटेनमेंट जोन में पूर्णबंदी 31 अक्टूबर तक लागू रहेगी। नए दिशा-निर्देश गुरूवार से लागू होंगे। पांचवें चरण में कंटेनमेंट जोन के बाहर के क्षेत्रों में पहले के अलावा कई अन्य गतिविधियों को शुरू करने की अनुमति दी गयी है। ये दिशा निर्देश राज्यों, केन्द्र शासित प्रदेशों और संबंधित केन्द्रीय मंत्रालयों तथा विभागाों की सलाह से तैयार किये गये हैं।

unlock-5

दिशा निर्देशों में कहा गया है कि गृह मंत्रालय की अनुमति से इतर अंतर्राष्ट्रीय हवाई यात्रा पर पाबंदी पहले की तरह जारी रहेगी। मनोरंजन पार्क और इसी तरह के अन्य स्थल बंद रहेंगे। साथ ही यह भी निर्णय लिया गया है कि 15 अक्टूबर के बाद कंटेनमेंट जोन में सिनेमा हाल, थियेटर और म्ल्टीपलेक्स आधी क्षमता के साथ खोले जा सकते हैं। इसके लिए सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय मानक संचालन प्रक्रिया जारी करेगा। इसके अलावा बिजनेस टू बिजनेस प्रदर्शनी की भी अनुमति होगी और इसके लिए वाणिज्य मंत्रालय मानक संचालन प्रक्रिया जारी करेगा। खिलाडिय़ों के प्रशिक्षण के लिए तरणताल खोलने की अनुमति होगी लेकिन इसके लिए भी संबद्ध मंत्रालय एसओपी जारी करेगा। मनोरंजन पार्क और इसी तरह के अन्य स्थलों के बारे में मानक संचालन प्रक्रिया जारी की जाएगी। राज्य और केन्द्र शासित प्रदेशों से कहा गया है कि वे 15 अक्टूबर के बाद चरणबद्ध तरीके से स्कूलों तथा कोचिंग संस्थानों को खोलने के बारे में निर्णय ले सकते हैं। यह निर्णय स्कूलों , प्रबंधनों और स्थिति के मूल्यांकन के आधार पर लिये जायेंगे।

Maharashtra: Tussle between schools, parents intensifies over payment of  fee | Education News,The Indian Express

इसके साथ ही यह कहा गया है कि ऑनलाइन शिक्षण को प्राथमिकता दी जायेगी। जो स्कूल ऑनलाइन क्लास जारी रखते हैं वहां यदि छात्र ऑनलाइन क्लास को प्राथमिकता देना चाहते हैं तो उन्हें इसकी अनुमति दी जायेगी। स्कूल आने वाले छात्रों को अभिभावक से मंजूरी लेनी होगी। हाजिरी को थोपा नहीं जायेगा और अभिभावक के चाहने पर ही बच्चे स्कूल जायेंगे। स्कूलों के संबंध में राज्य अपनी मानक संचालन प्रक्रिया बनायेंगे। उधर, महाराष्ट्र में 31 अक्टूबर तक लॉकडाउन बढ़ाया गया है। महाराष्ट्र में होटल, फूड कोर्ट, रेस्ट्रॉन्ट-बार आदि को 50 फीसदी क्षमता के साथ चलाने की अनुमति होगी। इसके लिए 5 अक्टूबर से खोलने की इजाजत होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

उत्तराखण्ड के उत्पादों का अम्ब्रेला ब्रांड बनाया जाएगा

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने उत्तराखण्ड के उत्पादों के लिए एक अम्ब्रेला ब्रांड बनाए जाने के निर्देश दिए हैं। सभी ग्रोथ सेंटर, बिक्री...

कोरोना काल में भी बढ़ रही चीन की इकोनॉमी, सितंबर तिमाही में 4.9 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज

 चीन की अर्थव्यवस्था ने सितंबर में समाप्त तिमाही में इससे पिछले साल की समान अवधि की तुलना में 4.9 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की...

इक्फाई विश्वविद्यालय के वीसी डॉ मुद्दु विनय को मिली डॉक्टरेट की मानद उपाधि

इक्फाई विश्वविद्यालय देहरादून के कुलपति डॉ मुद्दु विनय को उच्च शिक्षा के क्षेत्र में उनके सराहनीय योगदान के लिए यूनाइटेड नेशन रेस्क्यू सर्विस द्वारा...

मंगल पर अपने नागरिक को ले जाने वाला पहला देश बनेगा अमेरिका : ट्रंप

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि अमेरिका मंगल ग्रह पर अपने नागरिक को ले जाने वाला पहला देश बनेगा और पहली बार...

Recent Comments