जेल में रहते हुए इस शख्स ने प्राप्त की 31 डिग्रियां, Limca Book of Records में नाम दर्ज

0
45

हौंसला बुलंद हो तो हर मुश्किल को पार किया जा सकता है कुछ ऐसा ही कारनामा करके दिखाया है अहमदाबाद के भानूभाई पटेल ने।
फॉरेन एक्सचेंज रेग्युलेशन एक्ट (FERA) कानून के उल्लंघन के आरोप में जेल सजा काट रहे भानूभाई पटेल ने 8 साल में 31 डिग्रियां हासिल की। उन्हें सरकारी नौकरी का ऑफर भी मिला। नौकरी के बाद 5 सालों में उन्होंने और 23 डिग्रियां ली।

वे अपना नाम लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड्स, एशिया बुक ऑफ रिकार्ड, यूनिक वर्ल्ड रिकॉर्ड, इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड, यूनिवर्सल रिकार्ड फोरम और वर्ल्ड रिकॉर्ड इंडिया तक में दर्ज करा चुके हैं।

वे अपना नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड, यूनिक वर्ल्ड रिकॉर्ड, इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड, यूनिवर्सल रिकार्ड फोरम और वर्ल्ड रिकॉर्ड इंडिया तक में दर्ज करा चुके हैं। भानूभाई पटेल अब तक 54 डिग्रियां ले चुके हैं।

नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) की एक रिपोर्ट के मुताबिक, गुजरात की जेल में अनपढ़ों की बजाय शिक्षित कैदियों की संख्या ज्यादा है। ग्रेजुएट, इंजीनियर, पोस्ट ग्रेजुएट किए हुए कैदी तक इनमें शामिल हैं।गुजरात की जेलों में 442 ग्रेजुएट, 150 टेक्निकल डिग्री-डिप्लोमा, 213 पोस्ट ग्रेजुएट हैं। वहीं, 5179 कैदी 10वीं से कम पढ़े हैं। सबसे ज्यादा आरोपी हत्या और अपहरण के गुनाह में सजा काट रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here