Thursday , 18 October 2018

UP: यूपी बोर्ड परीक्षा के पहले CM योगी की नकल पर नकेल

मंथन न्यूज़ नेटवर्क : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पूरे प्रदेश में छह फरवरी से शुरू हो रही माध्यमिक शिक्षा परिषद की हाईस्कूल और इण्टरमीडिएट की बोर्ड परीक्षाओं में हर स्तर पर नकलविहीन व्यवस्था सुनिश्चित की जाए. राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि सरकार छात्रों के भविष्य को लेकर चिंतित है इसलिए परीक्षाओं का स्तर सुधारने के लिहाज से यह प्रयास किया जा रहा है.

मुख्यमंत्री ने यहां शास्त्री भवन में प्रदेश के समस्त जिलाधिकारियों, पुलिस अधीक्षकों व जिला विद्यालय निरीक्षकों को वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से संबोधित करते हुए कहा कि दागी केन्द्रों को परीक्षा से बाहर रखा जाए. उन्होंने कहा कि सभी केन्द्रों पर सीसीटीवी कैमरे लगाने की व्यवस्था की जाए. मुख्यमंत्री ने कहा कि नकलविहीन परीक्षा सुनिश्चित कराने की सामूहिक जिम्मेदारी जिलाधिकारियों, पुलिस अधीक्षकों तथा जिला विद्यालय निरीक्षकों की होगी. नकल की शिकायत मिलने पर जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.

योगी ने परीक्षा केन्द्रों पर नकलविहीन परीक्षा सुनिश्चित करने के संबंध में बलिया, देवरिया, गाजीपुर, जौनपुर, आजमगढ़, गोरखपुर, बागपत, मुजफ्फरनगर, बुलन्दशहर, शाहजहांपुर, गोण्डा, मेरठ, इटावा, मैनपुरी तथा बदायूं के जिलाधिकारियों, पुलिस अधीक्षकों तथा जिला विद्यालय निरीक्षकों से सीधे जानकारी प्राप्त की. उन्होंने सभी जिलाधिकारियों को अपने-अपने जनपदों में हर हाल में नकलविहीन परीक्षा सुनिश्चित करने के निर्देश दिए.

उत्तर प्रदेश के मदरसों को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक नया फरमान जारी किया था. मंगलवार को योगी सरकार ने आदेश दिया था कि दूसरे धर्मों के त्योहारों पर भी मदरसों को बंद रखा जाए. आपको बता दें कि इससे पहले योगी सरकार ने मदरसों में राष्ट्रगान गाने को अनिवार्य कर दिया था, साथ ही स्वतंत्रता दिवस के दिन पूरे कार्यक्रम की वीडियो रिकॉर्डिंग करवावने का भी आदेश दिया था.

मंगलवार को योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश के मदरसों के लिए छुट्टियों का नया कैलेंडर जारी किया था. इस कैलेंडर के मुताबिक मदरसों के अधिकार में आने वाली छुट्टियों को कम कर दिया गया था. इससे पहले उत्तर प्रदेश के मदरसे अमूमन होली और अंबेडकर जयंती को छोड़कर मुस्लिम त्योहारों में ही बंद रहते थे.

छुट्टी के इस नए कलेंडर में मदरसे में भी महावीर जयंती, बुद्ध पूर्णिमा, रक्षा बंधन, महानवमी, दिवाली, दशहरा और क्रिसमस को अवकाश घोषित किया गया था. टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक नए कैलेंडर में जहां 7 नई छुट्टियां जोड़ी गईं थी. वहीं मदरसों के अधिकार में रहने वाली 10 छुट्टियों को घटाकर 4 कर दिया गया था. इनमें ईद-उल-जुहा और मुहर्रम भी शामिल हैं.