Tuesday , 2 January 2018

ट्रंप ने पाक का हुक्का पानी किया बंद, रोक दी 255 मिलियन डॉलर की सैन्य मदद

मंथन न्यूज़ नेटवर्क : अमेरिका ने पाकिस्तान को मिलने वाली 255 मिलियन डॉलर की सैन्य मदद बंद कर दी है। अमेरिका की ओर से यह कदम राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की उस ट्वीट के बाद उठाया गया है जिसमें उन्होंने पाकिस्तान को आतंकियों की एक सुरक्षित पनाहगाह करार दिया था। ट्रंप प्रशासन की ओर से इस बात की पुष्टि कर दी गई है कि राष्ट्रपति ट्रंप ने पाक को मिलने वाली सैन्य मदद बंद करने का फैसला किया है। अमेरिका के इस कदम को भारत की एक बड़ी जीत करार दिया गया है।

आतंकियों के खिलाफ हो निर्णायक कार्रवाई 
ट्रंप प्रशासन के एक अधिकारी ने नाम न बताने की शर्त पर जानकारी दी कि अब अमेरिका की कोई योजना नहीं है कि वह पाक में वित्तीय वर्ष 2016 के लिए सैन्य सहायता के नाम पर करोड़ों डॉलर की रकम निवेश करे। इस अधिकारी की ओर से कहा गया है कि राष्ट्रपति ने इस बात को साफ कर दिया है कि अमेरिका, पाकिस्तान से उम्मीद करता है कि वह अपनी सरजमीं पर मौजूद आतंकियों के खिलाफ निर्णायक कार्रवाई करेगा। साथ ही उन्‍होंने यह संदेश भी दे दिया है कि दक्षिण एशिया रणनीति के लिए पाकिस्तान का समर्थन अमेरिका को मिलना चाहिए।

अमेरिका को दिया धोखा
ट्रंप ने पाकिस्तान पर हमला बोलते हुए आरोप लगाया था कि उसने गत 15 वर्षों में 33 अरब डालर की सहायता के बदले अमेरिका को ‘झूठ और धोखे के सिवा कुछ भी नहीं दिया है। ट्रंप ने साथ ही यह भी कहा कि पाकिस्तान ने आतंकवादियों को सुरक्षित पनाहगाह मुहैया करायी। ट्रंप ने कड़े शब्दों वाले ट्वीट में कहा कि अमेरिका ने मूर्खतापूर्ण तरीके से पाकिस्तान को गत 15 वर्षों में 33 अरब डालर से अधिक की सहायता दी और उन्होंने हमारे नेताओं को मूर्ख सोचते हुए हमें  ‘झूठ और धोखे के अलावा कुछ भी नहीं दिया। उन्होंने इस वर्ष के अपने पहले ट्वीट में कहा कि पाक ने उन आतंकवादियों को सुरक्षित पनाहगाह मुहैया करायी जिनके खिलाफ हम बहुत कम मदद के अफगानिस्तान में कार्रवाई करते हैं। अब और नहीं।