Tuesday , 3 April 2018

सुल्तानपुर पहुंचा जवान का पार्थिव शरीर, बेटा बोला- ‘बड़े होकर लेना चाहता हूं बदला’

मंथन न्यूज़ नेटवर्क :  जम्मू-कश्मीर में आतंकियों से मुठभेड़ के दौरान शहीद हुए सुल्तानपुर के लाल निलेश सिंह का पार्थिव शरीर मंगलवार (03 अप्रैल) सुबह उनके पैतृक गांव नगरी पहुंचा. शहीद का शव जैसे ही उनके गांव पहुंचा, पूरे गांव में मातम पसर गया. गांव के लोग अपने वीर के अंतिम दर्शन के लिए उनके घर पहुंचे. शहीद निलेश सिंह 34 राष्ट्रीय रायफल्स में ग्रेनेडियर थे. रविवार (1 अप्रैल) को आंतकवादियों के साथ हुई मुठभेड़ में वे शहीद हो गए. इस मुठभेड़ में उनके अलावा देश के अलग-अलग हिस्सों से तीन और जवान शहीद हुए थे. वर्तमान में उनकी तैनाती जम्मू कश्मीर के शोपियां जिले में थी.

शहीद का बेटा बोला- ‘बड़े होकर लूंगा बदला’
उत्तर प्रदेश का एक और वीर सपूत सेना ने भारत मां के लिए अपने प्राणों को न्यौछावर कर दिया.  जम्मू-कश्मीर में आतंकियों से मुठभेड़ के दौरान शहीद हुए सुल्तानपुर के लाल निलेश सिंह के बेटा यथार्थ अपने पिता की मौत का बदला लेना चाहता है. देश के लिए जान गंवाने वाले जवान के बेटे ने कहा, ‘पापा शहीद हुए हैं. मैं बड़ा होकर सेना में जाकर दुश्मनों से बदला लेना चाहता हूं,  लेकिन मुझको पता है, अब घर वाले मुझे सेना में नहीं जाने देंगे’.

पिता के नहीं थम रहे आंसू
शहीद के पिता राम प्रसाद सिंह का रो-रो कर बुरा हाल है. उनको अपने बेटे की शहादत पर गर्व है. लेकिन, इस बात का दुख भी है कि आंखों के सामने उन्होंने अपने बेटे को खो दिया. राम प्रसाद सिंह ने बताया कि निलेश बचपन से ही सेना में जाना चाहता था. उसके अंदर देश सेवा का भाव शुरू से ही था.

सीएम के आने की मांग
परिजन सीएम योगी आदित्यनाथ के आने की मांग पर अड़े हैं. परिजनों का कहना है कि सुल्तानपुर के जवान के शहीद होने की खबर के बाद से शहीद के घर में लोगों का तांता लगा है, लेकिन दो दिन बीत जाने के बाद भी डीएम और एसपी नहीं पहुंचें हैं.