Sunday , 21 October 2018

तांत्रिक की सलाह पर राहुल गांधी ने PM मोदी को लगाया था गले

मंथन न्यूज़ नेटवर्क : लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा प्रधानमंत्री को गले लगाने का मामला अभी भी सुर्खियों में हैं। संसद में हुई यह घटना ऐतिहासिक हो चुकी है। वहीं इस पर अभी तक भाजपा और कांग्रेस के बीच नोक-झोंक भी जारी है। जहां कांग्रेस इसे नफरत पर प्यार की जीत बता रही है वहीं भाजपा मात्र इसे प्यार का एक दिखावा करार दे रही है। दोनों पार्टियों की तरफ से एक- दूसरे पर वार और पलटवार जारी है। इन सभी के बीच दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता तजिंदर पाल सिंह बग्गा ने राहुल के गले मिलने पर एक ऐसी बात कही है जिससे कांग्रेस का चेहरा लाल हो सकता है। बग्गा ने ट्वीट कर खुलासा किया है कि राहुल ने एक तांत्रिक के कहने पर पीएम मोदी को गले लगाया था।

बग्गा ने दावा किया कि उन्हें एक कांग्रेसी मित्र ने ही इस बात की जानकारी दी थी। दिल्ली भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि तांत्रिक ने राहुल को सलाह दी थी कि अगर वे अपने भाषण के दौरान पीएम की कुर्सी को छुएंगे तो उनके प्रधानमत्री बनने के योग मजबूत होंगे। बग्गा ने कहा कि अब राहुल केवल पीएम की कुर्सी छूकर वापिस आते तो शायद ज्यादा चर्चा होती इसलिए कांग्रेस अध्यक्ष ने प्रधानमंत्री मोदी को गले लगाने के बहाने उनकी कुर्सी भी छू ली। बग्गा ने कहा कि राहुल को देश को बताना चाहिए कि क्या सच में उन्होंने पीएम की कुर्सी पाने के लिए एक तांत्रिक का सहारा लिया। वहीं कांग्रेस के कुछ नेताओं का कहना है कि राहुल भाषण के दौरान भावुक हो गए थे इसलिए उन्होंने पीएम को गले लगाया, यह प्री-प्लान नहीं था और पार्टी विधायक भी इस पर हैरान थे।

उल्लेखनीय है कि राहुल गांधी ने शुक्रवार को सदन में अविश्वास प्रस्ताव पर बहस के दौरान कहा था कि भाजपा चाहे उनसे जितनी मर्जी नफरत कर ले लेकिन कांग्रेस प्यार से ही जवाब देंगे, इतना कहकर राहुल ने पीएम को गले लगा लिया था। पहले तो प्रधानमंत्री मोदी को भी समझ नहीं आया कि राहुल ने अचानक किया क्या लेकिन बाद में उन्होंने खुद कांग्रेस अध्यक्ष को अपने पास बुलाया और उनसे हाथ मिलाया व पीठ थपथपाई।