Sunday , 15 September 2019

भावुक हुए इसरो अध्यक्ष के. सिवन , पीएम मोदी ने गले लगाकर बढ़ाया हौसला

चंद्रयान-2 मिशन के तहत चांद पर भेजे गए विक्रम लैंडर का संपर्क भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के वैज्ञानिकों से लैंडिंग से पहले टूट गया है। इस पूरे मिशन के संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसरो के कंट्रोल सेंटर से देश को संबोधिति‍ किया। पीएम मोदी ने वैज्ञानिकों से कहा कि आप सभी को आने वाले मिशन के लिए बहुत-बहुत शुभकामनाएं देता हूं।

इसी दौरान पीएम मोदी की इसरो के चेयरमैन के सिवन के साथ बेहद भावुक तस्वीर भी सामने आई जब इसरो में वैज्ञानिकों को भाषण देने के बाद जाते वक्त उन्होंने विदाई देने आये इसरो के चेयरमैन के सिवन को गले लगाकर धीरज बंधाया, काफी देर तक पीठ थपथपाते रहे, हौसला बढ़ाकर शुभकामनाएं देते रहे।

बता दें कि चांद की सतह से महज दो किलोमीटर पहले लैंडर विक्रम का संपर्क स्पेस कंट्रोल सेंटर से टूट गया। रात 1.49 पर लैंडर विक्रम से सिग्नल मिलने बंद हो गये। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इसरो के कंट्रोल सेंटर में खुद मौजूद थे और वहां पर मौजूद वैज्ञानिकों का हौसला बढ़ा रहे थे। 

लैंडर से संपर्क टूटने के बाद जब कंट्रोल रूम में मायूसी छा गई तो प्रधानमंत्री दर्शक दीर्घा से उतर कर कंट्रोल रूम में वैज्ञानिकों के पास पहुंचे और कहा कि उनकी उपल्बिधियों पर पूरे देश को गर्व है। वैज्ञानिकों ने जो हासिल दिखाया है वो कम नहीं है।