Thursday , 18 October 2018

पटना पहुंचे PM मोदी, CM नीतीश ने किया स्वागत

मंथन न्यूज़ नेटवर्क :  महात्मा गांधी के नेतृत्व में शुरू किए गए भारत के पहले सत्याग्रह ‘चंपारण सत्याग्रह’ को मंगलवार (10 अप्रैल) को 100 साल पूरे हुए है. बिहार के चंपारण जिले से शुरू किए गए चंपारण सत्याग्रह के 100 साल पूरे होने के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज जिले का दौरा करेेंगे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यहां ‘स्‍वच्‍छ भारत मिशन’ के स्वच्छाग्रहियों को संबोधित करेंगे और कई रेल योजनाओं को हरी झंडी दिखाएंगे. प्रधानमंत्री का दौरा पिछले साल अप्रैल में बिहार सरकार द्वारा शुरू किए गए चंपारण सत्याग्रह शताब्दी वर्ष समारोह के समापन के मौके पर हो रहा है.

पीएम मोदी का स्वागत करने के लिए खुद सूबे के सीएम नीतीश कुमार पटना एयरपोर्ट पहुंचे. नीतीश ने प्रधानमंत्री मोदी का गर्मजोशी से स्वागत करते हुए उन्हें लाल गुलाब दिया और फिर उन्हें गले से लगाया. इस दौरान केंद्रीय मंत्री उमा भारती, राम विलास पासवान भी वहां मौजूद थे.

इस अवसर पर प्रधानमंत्री मोदी द्वारा कटिहार-नई दिल्ली सप्ताह में दो बार चलने वाली हमसफर एक्सप्रेस ट्रेन एक नई द्वि-साप्ताहिक ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे. मोतिहारी-मुजफ्फरपुर रेल लाइन के विद्युतीकरण कार्य एवं मुजफ्फरपुर-नरकटियागंज रेलवे ट्रैक के दोहरीकरण कार्य की शुरूआत के अलावा मधेपुरा लोकोमोटिव फैक्ट्री द्वारा भारत और फ्रांस के संयुक्त सहयोग से विकसित 12,000 अश्वशक्ति वाला इलेक्ट्रोलिक लोकोमोटिव राष्ट्र को समर्पित किए जाने की संभावना है.

तय कार्यक्रम के अनुसार, पीएम मोदी 10 बजे विशेष वायुसेना विमान से पटना एयरपोर्ट पहुंचे. इसके बाद वह हेलीकॉप्टर से मोतिहारी के लिए रवाना होंगे. जानकारी के मुताबिक, पटना एयरपोर्ट पर प्रदेश के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पीएम मोदी के स्वागत के लिए मौजूद होंगे. तकरीबन 11 बजे पीएम मोदी और नीतीश कुमार मोतिहारी के गांधी मैदान पहुंचेंगे. पीएम मोदी गांधी मैदान तकरीबन 2 बजे तक रहने वाला है. कार्यक्रम में शिरकत करने के बाद वह तुरंत ही पटना एयरपोर्ट के लिए रवाना हो जाएंगे और देर रात तक दिल्ली पहुंच जाएंगे.

उल्लेखनीय है कि महात्मा गांधी पहली बार चंपारण रेल मार्ग से आए थे. इस कारण महात्मा गांधी की जीवनी और उनकी कहानियों से जुड़ी घटनाओं की जीवंत कलाकृति से स्टेशन को सजाया गया है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, बापू जिस तरह के स्टेशन पर आए थे, उसके मॉडल को भी स्टेशन पर लगाया गया, ताकि बापू से जुड़ी हर एक घटना से लोगों को रूबरू कराया जा सके.

देशभर के करीब 20 हजार स्वच्छाग्रही इस कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए चंपारण पहुंच रहे हैं. इतना ही नहीं ये स्वच्छाग्रही बिहार के विभिन्न जिलों में लोगों को जागरूक करने का भी काम कर रहे हैं. इन से प्रधानमंत्री 10 स्वच्छाग्रहियों को मंच से सम्मानित करेंगे. यूनिसेफ ने एक कार्यक्रम में 3 अप्रैल को दिल्ली में ‘चलो चंपारण’ अभियान की शुरुआत की थी. बता दें कि यूनिसेफ भारत में स्वच्छता पर बड़े स्तर पर काम कर रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2 अक्टूबर, 2014 को स्वच्छ भारत मिशन की शुरुआत की थी. इस मिशन का मकसद भारत को खुले में शौच मुक्त करना है. इस कार्यक्रम का शंखनाद करते हुए पीएम मोद ने भारत को स्वच्छ करने के लिए 2 अक्टूबर 2019 तक का लक्ष्य निर्धारित किया था.

महात्मा गांधी ने 10 अप्रैल, 1917 में बिहार के लोगों में शिक्षा, स्वास्थ्य, हुनर, स्वच्छता और महिला सशक्तिकरण जैसे मुद्दे उठाते हुए चलो चंपारण अभियान की शुरुआत की थी. इस कार्यक्रम के 100 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में सत्याग्रह से स्वच्छाग्रह अभियान की शुरुआत की गई है. पूर्व आईएएस अफसर परमेश्वरन अय्यर ने बताया कि 3 अप्रैल से 10 अप्रैल तक देश के विभिन्न हिस्सों ने 20 हजार से अधिक स्वच्छाग्रहियों ने बिहार के विभिन्न जिलों में स्वच्छता मिशन को जनांदोलन में बदलने के लिए काम किया है.

पीएम मोदी के इस स्वच्छता अभियान में बॉलीवुड जगत की तमाम हस्तियां भी बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रही हैं. सदी के महानायक अमिताभ बच्चन, अक्षय कुमार, माधुरी दीक्षित, अनुष्का शर्मा व विद्या बालन खुद स्वच्छ भारत और चलो चंपारण अभियान का प्रचार कर रहे हैं. सितारों को कहना है कि चंपारण की धरती का जब नाम आता तो पहले ज़हन में किसान और फिर उर्वरा शक्ति की याद आती है. चंपारण ही महात्मा गांधी की कर्मभूमि रही है, इसलिए उनके सपने को साकार करना हर एक भारतीय की जिम्मेदारी है.