Sunday , 15 September 2019

PM मोदी ने फोन पर की ट्रंप से बात, निशाने पर पाक और आतंकवाद

जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद आज पहली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप   से फोन पर बात की। दोनों के बीच करीब आधा घंटा बातचीत हुई। इस वार्ता के दौरान दोनों नेताओं के बीच द्विपक्षीय और क्षेत्रीय मामलों पर बातचीत हुई। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्रंप से बातचीत में ओसाका में हुई जी-20 शिखर सम्मेलन का भी जिक्र किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्रंप से बातचीत में एक बार फिर से आतंकवाद का मुद्दा उठाया और कहा कि सीमापार से आतंकवाद रोकना जरूरी है।

राष्ट्रपति ट्रंप से बातचीत के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने आतंक और हिंसा से मुक्त वातावरण के निर्माण पर जोर दिया और कहा कि ऐसे वातावरण में सीमा पार आतंकवाद की कोई जगह नहीं होनी चाहिए।  प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि गरीबी, अशिक्षा और बीमारी से जो कोई भी देश लड़ रहा है, भारत उसके साथ सहयोग के समर्पित है। राष्ट्रपति से बातचीत के दौरान प्रधानमंत्री ने अफगानिस्तान की आजादी के 100 साल पूरा होने का जिक्र किया। पीएम ने कहा कि भारत संगठित, सुरक्षित, लोकतांत्रिक और सच्चे मायनों में स्वतंत्र अफगानिस्तान के लिए हमेशा से प्रतिबद्ध रहा है और आगे भी रहेगा।

पीएम मोदी ने ट्रंप से पाकिस्तान से संबंध पर भी बातचीत की और कहा कि पाकिस्तान की एंटी इंडिया ऐक्टिविटी से इलाके में शांति को खतरा है, भारत ऐसी गतिविधियां बर्दाश्त नहीं करेगा। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्रंप से बातचीत में कहा कि उम्मीद करते हैं जल्द भारत के वाणिज्य मंत्री और अमेरिकी प्रशासन के बीच बातचीत होगी और द्विपक्षीय व्यापार को आगे बढ़ाएंगे।

मीडिया रिपोट्र्स के मुताबिक मोदी ने पाकिस्तान के परोक्ष संदर्भ में कहा कि कुछ क्षेत्रीय नेताओं का अति उग्र बयान देना और भारत विरोधी हिंसा को बढ़ावा देना क्षेत्र की शांति के लिए ठीक नहीं है। दरअसल, जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 में परिवर्तन के मुद्दे को पाकिस्तान की शह पर चीन ने यूएनएससी की बैठक में उठाया, लेकिन शुक्रवार को हुई बैठक में पाकिस्तान और चीन को दुनिया के किसी और मुल्क का समर्थन नहीं मिला। रूस समेत दूसरे देशों ने भारत का समर्थन किया। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने ट्रम्प को फोन लगाकर अमेरिका को अपने पक्ष में करने की कोशिश की लेकिन अमेरिका ने इसे द्विपक्षीय मामला बताकर उसकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया।