Sunday , 11 February 2018

फूलपुर उपचुनाव: सपा के स्टार प्रचारक की लिस्ट जारी, अखिलेश-डिंपल पर जिम्मेदारी

मंथन न्यूज़ नेटवर्क : उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान अखिलेश यादव की लोकप्रियता और डिंपल यादव की भीड़ जुटाने की क्षमता से हर कोई अवगत है। दोनों ने ही अपनी अलग-अलग जनसभाओं में अपार जनसमूह को बटोरा था। आलम तो यह था कि डिंपल यादव की जनसभा में भीड़ तक अनियंत्रित हो जा रही थी और अनियंत्रित भीड़ के लिए डिंपल की डांट का वीडियो भी वायरल हुआ था। अब उसी लोकप्रियता को भुनाने के लिए सपा ने अपने स्टार प्रचारकों के कंधे पर भीड़ जुटाने और जुटी भीड़ को वोट में तब्दील करने का खाका तैयार किया है। सपा के स्टार प्रचारक में सबसे उपर अखिलेश यादव और डिंपल यादव यानी भैया-भाभी का नाम है और रणनीति भी यही है कि युवा मतदाताओं को अपनी ओर मोड़ कर सपा की साइकिल सरपट दौड़ायी जाये।

भीड़ बदली वोट में तो होगा फायदा इलाहाबाद के फूलपुर लोकसभा सीट को हथियाने में हर दल अब तैयारी में जुट गए हैं। सपा ने सबसे आगे रहते हुए अपने लोकसभा स्टार प्रचारकों की लिस्ट जारी कर दी है । जिलाध्यक्ष कृष्णमूर्ति यादव ने स्टार प्रचारक लिस्ट की जानकारी देते हुये बताया कि फूलपुर लोकसभा उपचुनाव में सपा प्रत्याशी के प्रचार प्रसार के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव, सांसद डिंपल यादव, प्रोफेसर रामगोपाल यादव, सांसद धर्मेंद्र यादव, प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम समेत दो दर्जन बड़े नेता फूलपुर में आयेंगे।

सपा के स्टार प्रचारकों की लिस्ट से यह तो साफ है कि सपा भीड़ जुटाने में कामयाब होगी और अगर भीड़ को वोट में तब्दील करने में सपाई सफल हुए तो निश्चित तौर पर उन्हें उपचुनाव में बड़ा फायदा होगा। फिलहाल अब सबकी नजर प्रत्याशी की घोषणा पर होगी और घोषणा के साथ ही स्टार प्रचारकों के इलाहाबाद आने का क्रम शुरू हो जाएगा।

सपा का इरादा समाजवादी पार्टी फूलपुर लोकसभा सीट पर जब से चुनाव लड़ रही है उसने प्रत्याशियों ने चार बार यहां विजय श्री हासिल की है । ऐसे में समाजवादी पार्टी इस बार भी अपनी जीत की गुणा-गणित को सेट कर रही है। सपा की ओर से पहले ही दूसरे दलों को ऑफर दिया गया है कि वह गठबंधन के लिए प्रस्ताव रख सकते हैं, लेकिन अपनी ओर से अब सपा फाइनल लड़ाई में उतरने के लिए अकेले तैयार हो रही है।

कौन बनेगा प्रत्याशी पर मंथन रविवार को इलाहाबाद में राष्ट्रीय महासचिव व पूर्व मंत्री बलराम सिंह यादव के साथ मंत्री पूर्व मंत्री अहमद हसन फूलपुर लोकसभा के पुराने नेता व समाजवादियों से मुलाकात कर रहे हैं। इस दौरान पूरे इलाके के बड़े नेता, पूर्व प्रत्याशी, पूर्व विधायक व पदाधिकारी अपनी अपनी बात रखेंगे। उम्मीद है कि सबसे चर्चित प्रत्याशी को मैदान में उतारने की प्रक्रिया होगी , क्योंकि सपा इस लड़ाई को आगामी लोकसभा चुनाव के ट्रायल पर ही ले रही है।