Wednesday , 17 October 2018

पुतिन से मिले मोदी, कहा- भारत- रूस मैत्री अपने आप में अनूठी

मंथन न्यूज़ नेटवर्क : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन शुक्रवार को 19वें भारत रूस वार्षिक द्विपक्षीय शिखर सम्मेलन के दौरान मिले। इस बैठक में दोनों नेता अनेक द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर चर्चा किया।

पीएम मोदी ने कहा कि भारत की विकास यात्रा में रूस हमेशा हमारे साथ रहा है। उन्होंने कहा कि Human resource development से लेकर natural तक, trade से लेकर investment तक, नाभिकीय ऊर्जा के शान्तिपूर्ण सहयोग से लेकर सौर ऊर्जा तक, technology से लेकर tiger कन्ज़र्वेशन तक, सागर से लेकर अंन्तरिक्ष तक, भारत और रूस के सम्बन्धों का और भी विशाल विस्तार होगा।  पीएम मोदी ने कहा कि रूस के साथ अपने संबंधों को भारत सर्वोच्च प्राथमिकता देता है। तेजी से बदलते इस विश्व में भारत और रूस के सम्बन्ध और भी अधिक प्रासंगिक हो गए हैं।

इसके अलावा PM ने कहा कि आतंकवाद के विरूद्ध संघर्ष, अफगानिस्तान तथा Indo Pacific के घटनाक्रम, जलवायु परिवर्तन, SCO, BRICS जैसे संगठनों एवं G20 तथा ASEAN जैसे संगठनों में सहयोग करने में हमारे दोनों देशों के साझा हित हैं। हम अंतरराष्ट्रीय संस्थानों में अपने लाभप्रद सहयोग को जारी रखने पर सहमत हुए हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीच बातचीत के बाद भारत, रूस ने आठ समझौतों पर हस्ताक्षर किए। रूस और भारत ने अंतरिक्ष, परमाणु ऊर्जा, रेलवे समेत कई अन्य क्षेत्रों में समझौतों पर हस्ताक्षर किए।

दोनों नेताओं के बीच शिखर बैठक आज सुबह हैदराबाद हाऊस में शुरू हो गई। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने हैदराबाद हाऊस में दोनों नेताओं के चित्र के साथ ट्वीट किया, ‘‘ गर्मजोशी और स्नेह से परिपूर्ण संबंध। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का 19वीं भारत रूस वार्षिक द्विपक्षीय बैठक के लिये स्वागत किया जो इस वर्ष सार्थक सम्पर्क की श्रृंखला है।’’

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन दो दिवसीय भारत यात्रा पर बृहस्पतिवार को यहां पहुंचे। उनकी इस यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच एस-400 वायु रक्षा प्रणाली सहित अंतरिक्ष और ऊर्जा जैसे अहम क्षेत्रों में कई समझौतों पर हस्ताक्षर होने की संभावना है। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने यहां पहुंचने पर कल पुतिन की अगवानी की थी। उसके बाद पुतिन सीधे लोक कल्याण मार्ग स्थित प्रधानमंत्री आवास गए जहां दोनों नेताओं ने आमने-सामने बैठक की। बाद में प्रधानमंत्री ने उनके लिए एक निजी रात्रिभोज का आयोजन किया था।
शिखर सम्मेलन में दोनों नेता विभिन्न द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर व्यापक चर्चा करेंगे। इनमें मास्को के खिलाफ अमेरिकी प्रतिबंध और आतंकवाद विरोधी सहयोग शामिल हैं। रूसी राष्ट्रपति के साथ एक उच्चस्तरीय प्रतिनिधिमंडल भी आया है जिसमें उप प्रधानमंत्री यूरी बोरिसोव, विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव और व्यापार एवं उद्योग मंत्री डेनिस मंतुरोव शामिल हैं।