Saturday , 1 December 2018

जलवायु परिवर्तन वार्ता में जिम्मेदार भूमिका निभाएगा भारत

मंथन न्यूज़ नेटवर्क : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां जी-20 शिखर सम्मेलन के इतर गुरुवार को संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस से मुलाकात की। दोनों ने वैश्विक स्तर पर जलवायु परिवर्तन से निपटने में भारत की भूमिका पर चर्चा की। इस मुलाकात के दौरान मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासचिव को आश्वस्त किया कि भारत अगले हफ्ते पोलैंड में जलवायु परिवर्तन पर होने वाली वार्ता में ‘‘उचित और जिम्मेदार’’ भूमिका निभाएगा। विदेश सचिव विजय गोखले ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र प्रमुख के साथ प्रधानमंत्री की चर्चा का मुख्य विषय पोलैंड के केटोवाइस में तीन दिसंबर से होने जा रही सीओपी24 जलवायु परिवर्तन बैठक रहा।

गोखले ने कहा, ‘‘महासचिव ने कहा है कि भारत जलवायु परिवर्तन वार्ताओं में प्रमुख भूमिका निभाता है। उन्होंने स्वीकार किया कि प्रधानमंत्री ने जलवायु परिवर्तन से निपटने की दिशा में कई ठोस उपाए किए हैं।’’ विदेश सचिव ने कहा, ‘‘उन्होंने अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन का जिक्र किया। महासचिव ने यह भी कहा है कि पिछले महीने जब वह दिल्ली में थे तो उन्होंने खुद देखा था कि स्वच्छ भारत अभियान सहित प्रधानमंत्री की अगुवाई वाले अभियानों पर्यावरण पर कैसा असर हुआ है।’’ गुतारेस ने उम्मीद जताई कि भारत विकसित देशों और विकासशील देशों के विभिन्न समूहों को साथ लाएगा ताकि वे किसी ऐसे समाधान को सामने लाएं जिसे 2019 में उस जलवायु परिर्वतन शिखर सम्मेलन में शामिल किया जा सके जिसे 2019 में आयोजित करने की योजना संयुक्त राष्ट्र महासचिव द्वारा बनाई जा रही है।

 

गोखले ने कहा, ‘‘मुलाकात अच्छी रही। प्रधानमंत्री ने महासचिव को आश्वस्त किया कि भारत जलवायु परिवर्तन वार्ता में अहम भूमिका निभा रहा है और पर्यावरण संरक्षण भारतीय संस्कृति एवं सभ्यता का हिस्सा है। उन्हें आश्वस्त किया गया कि भारत सीओपी24 में अपनी उचित जिम्मेदारी निभाएगा।’’ प्रधानमंत्री कार्यालय सूत्रों के मुताबिक, संयुक्त राष्ट्र महासचिव पिछले दो महीने में दो बार पीएम मोदी से मुलाकात कर चुके हैं। उन्होंने बताया कि यह मुलाकात इस बात का प्रतीक है कि दोनों नेता जलवायु परिवर्तन के मुद्दे को काफी महत्व देते हैं।