Tuesday , 4 February 2020

हिमाचल के 13वें मुख्‍यमंत्री बने जयराम ठाकुर, 11 मंत्रियों के साथ ली शपथ

मंथन न्यूज़ नेटवर्क : जयराम ठाकुर ने ऐतिहासिक रिज मैदान में बुधवार को हिमाचल प्रदेश के 13वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली. जयराम के साथ ही उनकेे 11 मंत्रियों ने भी शपथ ग्रहण की. इनमें महेंद्र सिंह, किशन कपूर, सुरेश भारद्वाज, अनिल शर्मा, सरवीन चौधरी, रामलाल मारकण्‍डा, विपिन सिंह परमार, वीरेंद्र कंवर, विक्रम सिंह, गोविंद सिंह, डॉ. राजीव सहजल शामिल हैं. शपथ ग्रहण के दौरान रिज मैदान पर मौजूद लोगों ने जय श्री राम के नारे भी लगाए. सुरेश भारद्वाज और गोविंद सिंह ने संस्‍कृत में मंत्री पद की शपथ ली.

राज्‍य के इतिहास में यह पहला मौका है, जब प्रधानमंत्री सरकार के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हुए. इस समारोह में शामिल होने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सुबह करीब 10.45 बजे हेलीकॉप्‍टर से शिमला पहुंचे थे, जहां खुद जयराम ठाकुर उनकी आगवानी के लिए पहुंचे. पीएम केे अलावा गृह मंत्री राजनाथ सिंह, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी और राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी समेत कई केंद्रीय मंत्री, यूपी के सीएम योगी आदित्‍यनाथ के अलावा अन्‍य कई मुख्यमंत्री मौजूद रहे.

शपथ ग्रहण से पहले जयराम ठाकुर ने कहा कि ‘लोगों ने हम पर विश्‍वास जताया है. हम उनकी उम्‍मीदों पर खरा उतरने की कोशिश करेंगे’. इसके अलावा उन्‍होंने कहा कि ‘बहुत खुशी होती अगर पिताजी साथ होते. एक साल पहले वो हमें छोड़कर चले गए. माताजी अस्‍वस्‍थ हैं, लेकिन उनका आशीर्वाद हैं और ये मेरे लिए बहुत बड़ी बात है’.

 समारोह के लिए रिज मैदान भगवा रंग में रंग गया था. यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमित शाह और जयराम ठाकुर के बड़े-बड़े कट आउट लगाए गए. भव्य समारोह के लिए सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए और रिज, अन्नाडेल हेलीपैड तथा जुब्बार-हट्टी हवाई अड्डा एसपीजी को सुरक्षा घेरे में रखा गया.

समारोह में शामिल होने के लिए सुबह से ही लोग बड़ी संख्‍या में समारोह स्‍थल पहुंच गए थे.

दरअसल, भाजपा ने 68 सदस्यीय सदन में 44 सीटों पर जीत दर्ज की है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 27 अप्रैल को शिमला का दौरा किया था और एक रैली को संबोधित किया था. डीजीपी सोमेश गोयल ने बताया कि सुरक्षा में करीब एक हजार सुरक्षाकर्मियों के अलावा सादे कपड़े में खुफिया विभाग के लोगों को तैनात किया गया. कई स्थानों पर शार्प शूटरों को तैनात किया गया और अंतरराज्यीय सीमा के प्रवेश बिंदुओं पर कड़ी नजर रखी जा रही है.