Sunday , 4 February 2018

चारा घोटाला मामलाः लालू को जेल या बेल, आज CBI करेगी लालू की किस्मत का फैसला

मंथन न्यूज़  नेटवर्क : शनिवार को चारा घोटाला मामले में अहम फैसला आने वाला है और राजद सुप्रीमो की किस्मत का फैसला 23 दिसंबर यानि कल सुनाया जाएगा। देवघर कोषागार से जुड़े चारा घोटाला मामले में सीबीआई की विशेष अदालत लालू यादव और जगन्नाथ मिश्र समेत कई राजनेताओं और अधिकारियों के भाग्य का शनिवार को फ़ैसला करेगी।

लालू को हुई तीन साल से ज्यादा की सजा तो होगी मुश्किल

संभावना है कि लालू को दो साल से सात साल तक की सजा हो सकती है। सीबीआइ कोर्ट अगर लालू को सजा सुनाती है तो लालू अपनी जमानत की कोशिश करेंगे। लेकिन यह बात भी अहम है कि अगर लालू को तीन साल तक की जेल की सजा हुई तब तो उन्हें जमानत मिल जाएगी लेकिन अगर उन्हें तीन साल से ज्यादा सजा सुनाई जाती है तो उनके लिए मुश्किल होगी।

आज का दिन है लालू के लिए खास

इसे अहम फैसले पर पूरे देश की नजर होगी और फैसले की सुनवाई के लिए बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद व डॉ. जगन्नाथ मिश्र सहित अन्य आरोपी शुक्रवार की शाम तक रांची पहुंच जाएंगे। फैसले की तिथि सीबीआइ के विशेष न्यायाधीश शिवपाल सिंह की अदालत ने निर्धारित की है।

लालू यादव, जगन्नाथ मिश्र सहित 22 आरोपियों पर न्यायालय में ट्रायल चला है और देवघर इस मामले में कोषागार से करीब 90 लाख रुपये निकासी की बात सामने आई है। मामले में 34 आरोपियों के खिलाफ न्यायालय में चार्जशीट दाखिल किया गया था, जिनमें से कई आरोपियों का निधन हो चुका है तो वहीं दो आरोपी सरकारी गवाह बन गए हैं।

लालू ने कहा-न्याय व्यवस्था पर विश्वास था और है, फैसला होगा मंजूर

गुरुवार को लालू प्रसाद ने एक समाचार एजेंसी को दिए इंटरव्यू में कहा कि चारा घोटाला के मामले में साफ-साफ दस्‍तावेजों के साथ जो आरोप सीबीआई ने मुझपर लगाए उसका जवाब हम निचली अदालत में दे चुके हैं। हमने भी अदालत में बयान दिया है। मुझ पर चारा घोटाले को लेकर अलग-अलग केस दर्ज हुए। सब पर एक ही आरोप है, पर अलग-अलग ट्रायल चल रहा है।

लालू ने कहा कि 23 दिसंबर को अदालत ने बुलाया है।  हम पर केस मेकआउट नहीं होता है। उन्‍होंने कहा कि मुझे न्याय व्यवस्था पर पूरा विश्वास था, है और रहेगा। जो बी फैसला आएगा वो हमें मंजूर होगा।

उन्होंने कहा कि ये लोग लालू की शक्ति को जानते हैं कि ये डरने वाला नहीं है। इन्होंने हम पर और हमारे बच्चों पर केस करके हमको नीचा दिखाने की कोशिश की है। नीतीश कुमार, सुशील मोदी, बीजेपी, आरएसएस जानते हैं कि लालू से मुकाबला नहीं हो सकता है, इसलिए इसे रोक दो।

फैसले से बदल सकता है राजद का समीकरण

चारा घोटाले में जुड़े 3 मामलों पर 23 दिसंबर को फैसला आने वाला है, जिनमें लालू प्रसाद यादव आरोपी हैं। इन तीनों में किसी में भी अगर लालू प्रसाद यादव को कोर्ट ने दोषी ठहराया तो उन्हें तत्काल जेल जाना पड़ सकता है और उसके बाद राजद में बिखराव की भी आशंका जताई जा रही है।

लालू प्रसाद के जेल जाने की संभावना को लेकर जेडीयू का दावा है कि लालू के जेल जाने के बाद आरजेडी में तेज भागमभाग होगी। सूत्रों के अनुसार, आरजेडी के अंदर कुछ सीनियर नेता मौके की तलाश में हैं, जो मौका पड़ने पर पाला बदल सकते हैं। उधर कांग्रेस में भी लालू के जेल जाने की संभावना के बाद खलबली मच सकती है।

मिली जानकारी के मुताबिक कांग्रेस के डेढ़ दर्जन विधायक पहले ही एनडीए की राज्य सरकार से संपर्क में है। ऐसी स्थिति आने पर वह नैतिकता की दुहाई देकर जा मौके का फायदा उठा सकते हैं। लेकिन, कांग्रेस के सूत्रों के अनुसार लालू प्रसाद के जेल जाने की स्थिति में भी बिहार में उनके साथ अभी गठबंधन पर असर नहीं पड़ेगा।