Sunday , 29 March 2020

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल का बयान : आतंकवादियों के भी मारे जाने पर होता है दर्द

मंथन न्यूज़ नेटवर्क :  जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने मंगलवार को घाटी के आतंकवादियों से हिंसा छोड़ने और मुख्यधारा में लौटने का अनुरोध करते हुए कहा कि ‘‘ एक आतंकवादी भी मारा जाता है तो उन्हें दर्द होता है।’’ राज्यपाल ने आतंकवादी गतिविधियों को रोकने में सफलता के लिए प्रदेश पुलिस सहित सुरक्षा बलों की सराहना की।

मलिक ने बताया कि प्रशासन जम्मू कश्मीर में आतंकवादियों के पुनर्वास के लिए एक नया पैकेज तैयार करने की प्रक्रिया में है। यहां कार्यक्रम से इतर संवाददाताओं से बातचीत में मलिक ने कहा, ‘‘पुलिस अपनी ड्यूटी को बेहतर तरीके से निभा रही है। लेकिन यदि एक भी आतंकवादी मारा जाता है तो मुझे दर्द होता है….इन सब को (मुख्यधारा में) लौट आना चाहिए।’’

मलिक ने कहा, ‘‘जब मैंने जम्मू कश्मीर के राज्यपाल का कार्यभार संभाला तब से मेरी कोशिश उनको (सुरक्षा बलों) हरसंभव सुविधा उपलब्ध कराने की रही है। मैंने देखा है कि वे कठिन परिस्थितियों और भारी बर्फबारी में अपने अभियानों को अंजाम देते हैं।’’ उन्होंने कहा कि जब हम अपने घरों में रात में सो रहे होते है तब वे अपने अपनी ड्यूटी निभा रहे होते हैं। कई दफा सुबह तीन बजे तक वे अभियान को अंजाम देने में लगे होते हैं।