Newsmanthan Codes:-
Monday , 23 January 2017

बड़ी खबर :अखिलेश यादव व रामगोपाल सपा से 6 साल के लिए बर्खास्त

Home / Headlines / बड़ी खबर :अखिलेश यादव व रामगोपाल सपा से 6 साल के लिए बर्खास्त

की सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी के चल रहा संग्राम एक नए मोड़ पर आकर खड़ा हो गया है। मुलायम सिंह यादव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए अखिलेश यादव और रामगोपाल यादव को छह साल के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया।मुलायम ने रामगोपाल को सभी पदों से भी बर्खास्त कर दिया गया है। मुलायम ने अखिलेश व रामगोपाल को पार्टी विरोधी गतिविधियों की वजह से बर्खास्त किया।

उन्होंने रामगोपाल यादव पर आरोप लगाते हुए कहा कि केवल पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष को ही कार्यकर्ताओं की आपातकालीन अधिवेशन बुलाने का अधिकार है। इसके बावजूद रामगोपाल में एक जनवरी को यह अधिवेशन बुलाया है। मुलायम ने कहा कि रामगोपाल पार्टी को नुकसान पहुंचा रहे हैं। पहले भी उन्हें अनुशासनहीनता के कारण पार्टी ने निकला गया था।

मुलायम सिंह यादव ने अपने बयान में कहा कि रामगोपाल अपनाऔर पार्टी का भविष्य तो खबार कर ही रहे हैं। साथ ही अखिलेश यादव के भविष्य को भी बर्बाद कर रहे हैं।

इससे पहले दोपहर में सपा  के मुखिया मुलायम सिंह यादव ने अपने भाई शिवपाल यादव का पक्ष लेते हुए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और सपा महासचिव रामगोपाल यादव के खिलाफ कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया था। नोटिस में पूछा गया था कि उन्होंने पार्टी लाइन से हटकर प्रत्याशियों को लिस्ट अलग से कैसे जारी कर दी, आपके खिलाफ कार्रवाई क्यों न की जाए। ये कारण बताओ नोटिस जारी होते ही राजनीतिक गलियारों में इस बात की चर्चा तेजी से होने लगी है कि क्या अखिलेश यादव एक नए चुनाव चिह्न के साथ होने वाले चुनाव में ताल ठोकेंगे।

अखिलेश यादव व रामगोपाल को जारी हुआ कारण बताओ नोटिस

दरअसल, बीते 24 घंटों में सपा की ओर से उम्मीदवारों की तीन लिस्ट जारी हो चुकी हैं। पहले मुलायम सिंह यादव ने शिवपाल के साथ खड़े होकर 129 उम्मीदवारों के नाम घोषित किये। इसके बाद अखिलेश यादव 235 उम्मीदवारों की एक अलग लिस्ट लेकर मैदान में कूद पड़े। उम्मीदवारों के नाम की घोषणा करने का यह सिलसिला यहीं नहीं रुका। इसके बाद शिवपाल एक बार फिर अखिलेश को अपना दम दिखाते हुए 68 और नाम घोषित कर दिए।

अखिलेश यादव द्वारा उठाये गए इस कदम को लेकर सपा मुखिया में काफी नाराजगी देखने को मिली और उन्होंने अखिलेश को कारण बताओ नोटिस जारी कर दी। यह नोटिस केवल अखिलेश को ही नहीं, बल्कि उनके समर्थन में खुलकर बयानबाजी कर रहे रामगोपाल यादव को भी थमाई गई है।

रामगोपाल को यह नोटिस शुक्रवार को ही शिवपाल सिंह यादव के खिलाफ दी गई बयानबाजी के लिए जारी की गई है। दरअसल, रामगोपाल ने अभी कुछ घंटे पहले ही शिवपाल पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा था कि सपा में जारी इस लड़ाई में अब सुलह के लिए स्थान नहीं है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि सपा के सिंबल पर अखिलेश के लोग ही चुनाव लड़ेंगे।

उन्होंने शिवपाल का नाम लिए बिना कहा था कि एक व्यक्ति के कहने पर नेताजी ने सीएम अखिलेश को पद (अध्यक्ष) से हटा दिया। पार्टी में पूरे विवाद की जड़ यही है। उन्होंने कहा कि वह नेता पार्टी के बाहर का आदमी नहीं है। उन्होंने शिवपाल को पार्टी में विवाद की जड़ बताया और उनकी काबलियत पर भी जमकर हमला बोला।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *