Sunday , 15 September 2019

सितंबर में भारत को मिलेगा पहला राफेल, लेने जाएंगे रक्षामंत्री राजनाथ सिंह

फ्रांस के लड़ाकू विमान राफेल के लिए भारत का इंतजार अब खत्म होने जा रहा है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और वायु सेना प्रमुख चीफ मार्शल बीएस धनोआ पहले राफेल लड़ाकू विमान की डिलीवरी लेने फ्रांस की यात्रा करने वाले हैं। राफेल का उत्पादन फ्रांस की कंपनी दसां एविएशन ने किया है। कंपनी 20 सितंबर को पहला राफेल भारत को सौंपेगी। समाचार एजेंसी एएनआई ने रक्षा अधिकारियों के हवाले से कहा, ‘योजना के अनुरूप केंद्र सरकार की तरफ से रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अगुवाई में एक विशाल शिष्टमंडल फ्रांस भेजा जा रहा है। यह शिष्टमंडल सितंबर के तीसरे सप्ताह में राफेल की डिलीवरी प्राप्त करेगा।’ बता दें कि भारत ने 36 राफेल लड़ाकू विमानों के लिए फ्रांस के साथ करार पर हस्ताक्ष किए हैं और ये विमान अगले साल मई से भारत पहुंचना शुरू हो जाएंगे। 

रक्षा मंत्री सिंह और आईएएफ प्रमुख फ्रांस में राफेल के उत्पादन संयंत्र के समीप इस पहले लड़ाकू विमान को प्राप्त करेंगे। अधिकारियों का कहना है कि भारत को जो राफेल मिलने जा रहा है वह फ्रांस की एयर फोर्स में शामिल राफेल से कहीं ज्यादा उन्नत है और यही वजह है कि अगले साल मई तक इस विमान का इस्तेमाल भारतीय पायलटों के प्रशिक्षण देने में किया जाएगा। इन लड़ाकू विमानों में भारत की जरूरतों के हिसाब से तैयार किया गया है जिसके चलते इनकी लागत भी ज्यादा हो गई है।